मां की इकोफ्रेंडली मुर्ति ।

 Shivaji Park
मां की इकोफ्रेंडली मुर्ति ।

शिवाजी पार्क- नवरात्रोंत्सव शुरु होने में अब बस कुछ दिन बचा हुआ है। लोकिन दादर के शिवाजी पार्क में अभी भी अंबे मां की कई एसी मुर्तियां है जिनपर अभी भी लगभग 70 फिसदी से भी ज्यादा का काम बाकी है। बंगाली तरिके से बनी ये मुर्तियां जेष्ठ बंगाली मूर्तिकार उत्तम पाल के हाथों बनाई जाती हैं। बांबू, घास और नदी के मिट्टी का इस्तेमाल कर इन मुर्तियों को बनाया जाता है। इन मुर्तियों की स्थापना नवरात्री के 5वें दिन यानी पंचमी को की जाती है। पिछलें 40 सालों से उत्तम पाल इस तरह की मुर्तियां बनाते आ रहे है।

Loading Comments