क्रूज डेस्टिनेशन बना मुंबई !

मुंबई में आने वाले क्रूज टूरिस्टों की संख्या अब 86,757 से बढ़कर इस साल के आखिर तक 1.81 लाख होने का अनुमान है

SHARE

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की पहले के बाद मुंबई में  घरेलू क्रूज टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए कई तरह की योजनाएं बनाई। अब इन योजनाओं का असर जमीन पर भी दिखने लगा है।  केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने देश में घरेलू क्रूज टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए जहाजरानी मंत्री रहने के दौरान कई पहल की थीं। जिससे मुंबई सहीत पूरे देश में यात्रियों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। मुंबई में आने वाले क्रूज टूरिस्टों की संख्या अब 86,757 से बढ़कर इस साल के आखिर तक 1.81 लाख होने का अनुमान है।

मुंबई पोर्ट ट्रस्ट के अनुसार देश में 2018 में कुल 285 क्रूज आए। इसमें से अकेले मुंबई पोर्ट पर 106 क्रूज आए। यह देश के किसी शहर में सबसे ज्यादा हैं। मुंबई अब धीरे धीरे   ‘गेट वे फॉर क्रूज टूरिज्म इन इंडिया’ बनता जा रहा है। दिसंबर अंत तक देश में कुल 593 क्रूज आने वाले हैं। इसमें से सर्वाधिक 259 क्रूज मुंबई के क्रूज टर्मिनल पर अलग-अलग समय में पहुंचेंगे। 

गोवा के लिए भी क्रूज 

मुंबई के डोमेस्टिक क्रूज टर्मिनल से पिछले साल मुंबई से गोवा के लिए अंग्रीया नाम के  क्रूज की शुरुआत की थी।   सूरत और मुंबई के बीच भी क्रूज सेवा शुरु की गई है।  215 यात्री क्षमता वाले इस क्रूज का किराया 4000 से 5000 रुपए के बीच है। मुंबई मेडन नामक यह क्रूज सेवा महाराष्ट्र मेरीटाइम बोर्ड और गुजरात मेरीटाइम बोर्ड की मदद से एसएसआर मरीन सर्विस ने शुरू की है।

मुंबई के भाऊचा धक्का के पर्पल गेट स्थित डोमेस्टिक क्रूज टर्मिनल की पैसेंजर क्षमता 2,000 से बढ़ाकर 4,000 कर दी गई है। इसी तरह इंटरनेशनल क्रूज टर्मिनल की क्षमता दिसंबर तक 3,000 हो जाएगी। इसके विस्तार पर 300 करोड़ खर्च किए जा रहे हैं। 

यह भी पढ़े- देश का पहला 11 स्क्रीन वाला मल्टीप्लेक्स

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें