सन्यास का अर्थ है स्वयं में उतरना

सद्गुरू कहते हैं कि सन्यास का अर्थ घर छोड़ देना, अपनी जिम्मेदारियों से मुख मोड़ लेना, जंगलों और पहाड़ों पर चले जाना नहीं है। सन्यास का अर्थ है स्वयं में उतरना और अपनी आत्मिक शक्ति द्वारा उस प्रभु को प्राप्त कर लेना। अपनी समस्त जिम्मेदारियों और कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए ही उस प्रभु को प्राप्त किया जा सकता है।

दूसरी बात यदि धन की बहेद कमी हो रही हो तो किसी शिवलिंग पर 27 दिन तक शहद से अभिषेक करें और रोज पश्चिम की तरफ मुख करके लक्ष्मी के मंत्र का जाप करें। इससे ये समस्याएं खत्म हो जाएंगी।

Loading Comments