नोटबंदी के बाद अब शिवसेना ने स्वच्छता अभियान पर साधा निशाना


SHARE

केंद्र सहित महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिव सेना ने एक बार फिर भाजपा पर हमला किया है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में पीएम मोदी सहित मोदी के महत्वांकाक्षी प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत अभियान को लेकर निशाना साधा है। शिवसेना ने कहा कि स्वच्छता अभियान में खर्च हुआ पैसा मात्र पैसे की बर्बादी है।

अक्सर 'सामना' के जरिये अपने विरोधियों पर निशाना साधने वाली शिवसेना के निशाने पर बीजेपी के मंत्री राम शिंदे भी रहे। स्वच्छता अभियान की धज्जियां उड़ाने वाले राम शिंदे ने हाल ही में खुले में पेशाब किया था, जिस पर सामना में लिखा गया है कि अगर नेशनल हाईवे पर शौचालय बनाए गए होते तो मंत्रीजी को खुलेआम लघुशंका नहीं करनी पड़ती। 

सामना के संपादकीय में आगे लिखा गया है कि सरकारी तिजोरी में से स्वच्छ भारत अभियान पर सैकड़ों करोड़ रुपये खर्च हुए और वो सब बर्बाद हो गए। उन पैसो से महाराष्ट्र में कम से कम दो हजार शौचालय राष्ट्रीय महामार्ग और अन्य स्थानों पर बन गए होते तो राम शिंदे जैसे राज्य के नेता को लघुशंका को लेकर परेशानी न होती।

सामना ने आगे लिखा कि मुंबई के शौच मुक्त होने की केवल विज्ञापनबाजी की गई है, लाख कोशिशो के बाद भी आज भी मुंबई की सड़कों, रेल की पटरियों के किनारे और खुले में स्वच्छता अभियान की लोग धज्जियां उड़ा रहे हैं। संपादकीय के अनुसार इसके लिए लोगों को एक साथ दोष नहीं दिया जा सकता, क्योंकि शहरों की जनसंख्या नगर रचना और जरूरत की बात है। 

गौरतलब है कि अभी हाल ही में शिवसेना ने सामना के जरिये नोटबंदी पर भी सवाल उठाते हुए बीजेपी पर निशाना साधा था। यह पहली बार नहीं है कि शिवसेना ने बीजेपी की आलोचना की है. दोनों भले ही साथ में हैं लेकिन शिवसेना हमेशा मुद्दों को लेकर बीजेपी पर शाब्दिक प्रहार करती रहती है।

 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें