‘भ्रष्टाचार के लिए फिर मिलेंगे हाथ’

 Mumbai
‘भ्रष्टाचार के लिए फिर मिलेंगे हाथ’

मुंबई - शिवसेना-बीजेपी युती तोड़ने का ऐलान शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने गुरुवार को किया। जिसके बाद से इस पर राजकीय रंग चढ़ना शुरु हो गया। इसी कड़ी में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक चव्हाण ने उद्धव ठाकरे के युती तोड़ने वाले निर्णय पर जमकर टिप्पणी कसी। उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे को युती तोड़ने की घोषणाबाजी करने की बजाय सत्ता से बाहर होना चाहिए। 

अशोक चव्हाण ने आगे कहा कि राज्य के इतिहास में सबसे अधिक अपारदर्शक सरकार चलाने वाले पारदर्शिता की बातें करते हैं। चुनाव का गणित नहीं बैठ रहा तो युती तोड़ दी, पर चुनाव हो जाने के बाद भ्रष्टाचार करने के लिए फिर हाथ मिला लेंगे। 

अशोक चव्हाण ने कहा कि सरकार में विविध मंत्रियों के घोटाले सामने आए हैं, इसमें बीजेपी और शिवसेना दोनों शामिल हैं। जिसके चलते जनता के बीच इनके प्रति कड़ा विरोध है। आगामी चुनाव में कांग्रेस की जीत पक्की है। 

 

Loading Comments