Advertisement

BJP की वजह से नहीं बल्कि असंतुष्ट पार्टी की वजह से गिरेगी MVA सरकार - अमित शाह

केंद्रीय मंत्री ने संकेत देते हुए कहा कि अगर महाराष्ट्र में सरकार गिरती है तो यह आंतरिक संघर्ष के कारण होगा। भाजपा कोरोनोवायरस संकट के बीच किसी भी राज्य सरकार को खींचने की कोशिश नहीं कर रही है।

BJP की वजह से नहीं बल्कि असंतुष्ट पार्टी की वजह से गिरेगी MVA सरकार - अमित शाह
SHARES
Advertisement

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (home minister amit shah) ने सोमवार को इस बात से इनकार किया कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) महाराष्ट्र में शिवसेना की अगुवाई वाली महाविकास आघाड़ी (MVA) सरकार को अस्थिर करने का प्रयास कर रही है।

न्यूज़ चैनल नेटवर्क 18 से बात करते हुए अमित शाह ने कहा कि, भाजपा महाराष्ट्र में तीन पार्टी गठबंधन - कांग्रेस (Congress) राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) और शिवसेना (Shiv sena) के गठबंधन को नहीं तोड़ रही है।

लेकिन शाह ने यह भी जोड़ा कि, अगर गठबंधन सहयोगी परेशान हो रहे हैं तो वे अपना समर्थन वापस ले सकते हैं, तो ऐसे में MVA सरकार को बचाया नहीं जा सकता।  

इसके बाद शाह ने आगे कहा, अगर तीनों गठबंधन सहयोगी एक-दूसरे पर भरोसा करते रहे तो सरकार कैसे गिर सकती है?

केंद्रीय मंत्री ने संकेत देते हुए कहा कि अगर महाराष्ट्र में सरकार गिरती है तो यह आंतरिक संघर्ष के कारण होगा। भाजपा कोरोनोवायरस संकट के बीच किसी भी राज्य सरकार को खींचने की कोशिश नहीं कर रही है।

इससे पहले, बीजेपी सांसद नारायण राणे (narayan rane) ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ( bhagat singh koshyari) से राजभवन में मुलाकात कर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की। राणे के मुताबिक, उद्धव ठाकरे सरकार COVID-19 महामारी से निपटने में विफल साबित हो रही है।

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए शाह ने कहा कि राणे को संसद सदस्य होने के नाते उन्हें अपने विचार व्यक्त करने का पूरा अधिकार है।

राणे के बाद, NCP प्रमुख शरद पवार भी राज्यपाल से मिले। इसके बाद पवार मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (uddhav thackeray) के साथ भी बैठक की। फिर NCP की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि, BJP महाविकास आघाड़ी सरकार को तोड़ने की कोशिश कर रही है।

गठबंधन सरकार को बीजेपी द्वारा तोड़ने की अफवाह के बाद शरद पवार (sharad pawar) और संजय राउत (sanjay raut) सहित शीर्ष नेता एमवीए सरकार का बचाव करते हुए कहते नजर आए कि यह मजबूत और स्थिर सरकार है। यह सरकार अपने 5 साल जरूर पूरा करेगी।

संबंधित विषय
Advertisement