BJP के बयान बहादुर, जो अपने बयान से बने हंसी के पात्र

आज हम आपको बीजेपी के ऐसे ही बयान बहादुरों के बयान बताएंगे जो अपने बयान के कारण या तो चर्चा में रहें या फिर विवादों में।

SHARE

अभी हाल ही में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक अजीबो गरीब बयान देकर चर्चा में छा गयीं थीं। उन्होंने कहा था कि ऑटो सेक्टर में मंदी के लिए ओला-उबर जिम्मेदार है। उन्होंने कहा था कि ज्यादातर लोगों की सोच में बदलाव आया है जो अब मासिक किस्तों में एक कार खरीदने की जगह ओला और उबर जैसे टैक्सी सेवा का लाभ लेना पसंद करते हैं। यही नहीं उन्हीं की सहयोगी पार्टी शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने भी बेस्ट की खस्ताहाल स्थिति का जिम्मेदार ओला-उबर को बताया था। आज हम आपको बीजेपी के ऐसे ही बयान बहादुरों के बयान बताएंगे जो अपने बयान के कारण या तो चर्चा में रहें या फिर विवादों में।

प्रज्ञा ठाकुर
वैसे तो प्रज्ञा ठाकुर ने कई विवादित बयान देकर सुर्हैंखियां बटोरी हैं लेकिन उनका सबसे मजेदार बयान वह था जिसमें वो एक विडियो में कहती नजर आ रहीं थी कि गाय के ऊपर हाथ फेरने से डायबिटीज, दमा, कैंसर जैसी बीमारियाँ दूर हो जाती हैं।  

नोट- अगर आप किसी भी बीमारी से ग्रसित हैं तो आप इनसे संपर्क कर सकते हैं।

सुशील कुमार मोदी
बिहार के उपमुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी की आर्थिक मंदी पर अलग ही थ्योरी है। सुशील मोदी का कहना है कि हर साल सावन-भादो में मंदी रहती है, लेकिन इस बार मंदी का ज्यादा शोर मचाकर कुछ लोग चुनावी हार की खीझ निकाल रहे हैं।

नोट- सावन-भादो में लोगों को खाना पीना छोड़ देना चाहिए, न रहेगा बांस न बेगी बांसुरी  

नितिन गडकरी
परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने  कहा था कि, ‘हम पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम में लगातार सुधार कर रहे हैं। नई नई तकनीक लेकर आ रहे हैं. ऑटो सेक्टर पर इसका भी असर होता है।'  

नोट- गडकरी साहब किस दुनिया में हैं, वे पब्लिक ट्रांसपोर्ट सुधार की बात कह रहें हैं। मुंबई- दिल्ली का हाल किसी से छुपा नहीं है।

पीयूष गोयल
केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने भी मंदी पर एकदम नया लॉजिक दिया है। गोयल ने कहा, ‘अगर आइंस्टीन ने आंकड़ों और गणित की चिंता की होती तो वो कभी भी ग्रैविटी (गुरुत्वाकर्षण) के नियम की खोज नहीं कर पाते।’ गोयल के इस बयान की सोशल मीडिया पर खूब मजाक उड़ा है। देखते ही देखते ट्विटर पर न्यूटन और आइंस्टीन ट्रेंड करने लगे। दरअसल, गुरुत्वाकर्षण की खोज न्यूटन (1642-1727) ने की थी. वहीं, आइंस्टीन (1879-1955) ने थ्योरी ऑफ रिलेटिविटी की खोज की थी। 

नोट- मंत्री साहब एक बार साइंस पढ़ लते तो ऐसी भद्द नहीं पिटती आपकी

बिप्लब देव
त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देव ने कहा था कि महाभारत काल में भी सैटेलाईट और इंटरनेट थे, जिनका उपयोग उस समय के लोग करते थे।इसके बाद उन्होंने यह भी कहा था कि इंजीनियरों को अगर नौकरी नहीं मिलती है तो उन्हें गाय पाल लेना चाहिए या फिर पान की दूकान खोल लेना चाहिए।

नोट: लगता है राउटर सेट करने यही गये हुए थे।

दिनेश शर्मा
यूपी के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा था कि सीता एक टेस्ट ट्यूब बेबी थीं, क्योंकि उनका जन्म धरती के अंदर एक घड़े से हुआ था। इनकी मानें तो उस समय टेस्ट ट्यूब से बच्चे पैदा करने वाली प्रणाली विकसित कर ली गयी थी।

नोट: और फल खाने से राम का जन्म हुआ था उसे क्या कहेंगे आप?

साक्षी महाराज
विवादित बयान की बात हो और साक्षी महाराज का नाम न आए, यह हो नहीं सकता. साक्षी महाराज ने कहा था कि हिंदू महिलाओं को हिंदुत्व की रक्षा के लिए 4 बच्चे पैदा करना चाहिए, हालांकि बाद में वे अपने इस बयान से पलट गये. 

नोट: पहले आप मोदी जी से यह बात कहिये साक्षी जी 

 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें