Coronavirus cases in Maharashtra: 920Mumbai: 526Pune: 101Pimpri Chinchwad: 39Islampur Sangli: 25Kalyan-Dombivali: 23Ahmednagar: 23Navi Mumbai: 22Thane: 19Nagpur: 17Panvel: 11Aurangabad: 10Vasai-Virar: 8Latur: 8Satara: 5Buldhana: 5Yavatmal: 4Usmanabad: 3Ratnagiri: 2Kolhapur: 2Jalgoan: 2Nashik: 2Other State Resident in Maharashtra: 2Ulhasnagar: 1Sindudurga: 1Pune Gramin: 1Gondia: 1Palghar: 1Washim: 1Amaravati: 1Hingoli: 1Jalna: 1Total Deaths: 52Total Discharged: 66BMC Helpline Number:1916State Helpline Number:022-22694725

भड़काऊ बयान देने पर वारिश पठान के खिलाफ कार्रवाई की मांग

राष्ट्र रक्षक जनमंच ने राज्य के पुलिस महासंचालक और मुंबई पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर वारिश पठान के खिलाफ भड़काउ भाषण देने के लिए कार्रवाई की मांग की है।

भड़काऊ बयान देने पर वारिश पठान के खिलाफ कार्रवाई की मांग
SHARE

एआईएमआईएम के नेता वारिस पठान ने एक सभा में कहते नजर आ रहे हैं कि देश में हम (मुसलमान) सिर्फ 15 करोड़ हैं लेकिन अगर हम सड़कों पर उतर आए तो देश के 100 करोड़ लोगों की बहुसंख्यक आबादी पर भारी पड़ेंगे। वारिश पठान के इस बयान के बाद अब हर तरफ से उनका घोर विरोध हो रहा है। वारिश पठान के खिलाफ अब पुलिस कार्रवाई की भी मांग की जा रही है। राष्ट्र रक्षक जनमंच ने राज्य के पुलिस महासंचालक और मुंबई पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर वारिश पठान के खिलाफ भड़काउ भाषण देने के लिए कार्रवाई की मांग की है।  


मंच पर मौजूद नेताओं पर भी हो कार्रवाई 

राष्ट्र रक्षक जनमंच के अध्यक्ष रमेश जोशी ने राज्य के पुलिस महासंचालक और मुंबई पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर वारिश पठान के खिलाफ हिंदू भावनाओं को भड़काने और दिल्ली के शाहीन बाग में शामिल कुछ महिलाओं का संदर्भ लेकर हिंदू समाज की अवमानना करने के मामले में जल्द से जल्द सख्त कदम उठाने की मांग की है। रमेश जोशी का कहना है की "  जब मंच पर वारिश पठान भड़काऊ भाषण दे रहे थे तब उसी मंच पर एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के साथ साथ पार्टी के कई और बड़े नेता भी मौजूद थे, वारिश पठान को भाषण देने से रोकने के बजाय वह उनकी बातों पर हस रहे थे और ताली बजा रहे थे, इसलिए वारिश पठान के साथ साथ मंच पर मौजूद नेताओं पर भी कार्रवाई होनी चाहिये"

पहले भी दिये है कई विवादित बयान 
कर्नाटक के गुलबर्गा में वारिस पठान ने ये बयान दिया है। ये पहला मौका नहीं है जब एआईएमआईएम के नेताओं ने इस तरह का बयान दिया हो। गाहे-बगाहे पार्टी के नेता कई विवादित बयान देते रहते हैं।

संबंधित विषय
संबंधित ख़बरें