किसानों को मुआवजा के बदले मिली लाठियां - शरद पवार

 Nariman Point
किसानों को मुआवजा के बदले मिली लाठियां - शरद पवार

विरोध करने के लिए हमने कभी विरोध नहीं किया, यह हमारी भूमिका नहीं है, लेकिन समृद्धि महामार्ग को लेकर अनेक किसानो ने अपना विरोध जताया है। समृद्धि महामार्ग योजना के साथ साथ किसानों का पक्ष भी अच्छी तरह से समझ लेना आवश्यक है। शरद पवार नरीमन पॉइंट में स्थित एनसीपी कार्यालय में पत्रकारों को संबोधित करते हुए यह बातें कही।

पवार ने कहा कि इसके पहले की सरकार की तरफ से कुछ अधिकारियों ने समृद्धि महामार्ग को लेकर कुछ जानकारियों दी। लेकिन किसानों का पक्ष भी जान लेना जरुरी है। इसके लिए एनसीपी किसानों के संगठन संघर्ष समिति के पदाधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन किया था। इस बैठक में समृद्धि महामार्ग से प्रभावित होने वाले किसानों ने अपनी परेशानियां सामने रखी।

एनसीपी प्रमुख ने आगे कहा कि किसानों का पक्ष जानने के बाद समझ में आया कि आदिवासी भागों में जमीन अधिग्रहण करने और उसके मूल्य के बारे में ग्राम पंचायत की मंजूरी लेना आवश्यक था लेकिन सरकार की तरफ से ऐसा नहीं किया गया। अनेक किसानो की असहमति के बावजूद उनसे जमीन ली गई। जिन लोगों ने इस योजना का विरोध किया उन पर पुलिस ने लाठियां बरसाई। पवार ने बताया कि इस योजना के बदले किसानों को कितना मुआवजा मिलेगा इसका भी खुलासा सरकार ने नहीं किया है।

पवार ने स्पष्ट किया कि समृध्दी महामार्ग योजना को लेकर विस्तृत चर्चा करने के लिए 12 जून को एनसीपी की तरफ से औरंगाबाद में एक सभा का आयोजन किया गया है। जिसमें प्रभावित किसानों और संघर्ष समिति के पदाधिकारियों को बुलाया गया है।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 



Loading Comments