मुंबई में जॉब के लिए हरियाणा में इंटरव्यूह, युवा सेना के जताया विरोध

युवा सेना का कहना है कि अगर मुंबई (mumbai) में भर्ती होती है तो पहले यहां के स्थानीय लोगों को प्राथमिकता मिलनी चाहिए।

मुंबई में जॉब के लिए हरियाणा में इंटरव्यूह, युवा सेना के जताया विरोध
SHARES


शिव सेना (shiv sena) की युवा सेना (yuva sena) ने उस बात का विरोध किया है जिसमें Burns & McDonnell नामकी कंपनी मुंबई में विभिन्न पदों पर इंजीनियरिंग की भर्ती (job fair) के लिए हरियाणा (haryana) में इंटरव्यूह (interview) कर रही है। इस विरोध के बाद कंपनी की तरफ से इंटरव्यूह रद्द कर दिया गया। युवा सेना का कहना है कि अगर मुंबई (mumbai) में भर्ती होती है तो पहले यहां के स्थानीय लोगों को प्राथमिकता मिलनी चाहिए।

क्या है मामला?

संबंधित कंपनी ने अपने वेबसाईट(website) पर विविध पदों के लिए इंजीनियरों की भर्ती का विज्ञापन प्रकाशित किया था। वेबसाईट के मुताबिक इन पदों पर होने वाली भर्ती के लिए इंटरव्यूह का आयोजन गुरुग्राम, हरियाणा में किया गया था, जबकि कंपनी का ऑफिस मुंबई में है।

जब इस बात की जानकारी शुव सेना की युवा सेना को हुई तो उन्होंने इस बात का विरोध करना शुरू कर दिया। युवा सेना के सचिव वरुण सरदेसाई (varun sardesai) ने Burns & McDonnell को एक पत्र लिख कर इस बात का विरोध दर्ज कराया और मुंबई में होने वाली किसी भी पदों पर भर्ती के लिए स्थानीय युवकों को प्राथमिकता देने की मांग की।

यही नहीं मांग नहीं मानने पर कंपनी के खिलाफ आंदोलन मोर्चा करने की भी धमकी युवा सेना की तरफ से दी गयी।  युवा सेना की धमकी का असर हुआ और कंपनी ने इस इंटरव्यूह को कैंसिल कर दिया।

युवा सेना के सचिव वरुण सरदेसाई ने कहा कि, कानून के अनुसार कंपनी में काम करने के लिए 80% स्थानीय लोग होना चाहिए। लेकिन इस कंपनी में आवश्यक इंजीनियरों की भर्ती गुरुग्राम और हरियाणा में हो रही है। यह महाराष्ट्र और मराठियों के साथ अन्याय है। इसलिए हमने विनम्रता पूर्वक कंपनी से अनुरोध किया कि इस भर्ती प्रक्रिया में मुंबई-महाराष्ट्र के स्थानीय लोगों को प्राथमिकता दी जानी चाहिए। वरुण ने कहा कि, अगर कंपनी हमारी बात नहीं मानती तो हमें आंदोलन करना पड़ेगा।

संबंधित विषय