अधिवेशन में गुंजेगा अवनि का मुद्दा, शिवसेना सहित विपक्ष आक्रामक


SHARE

बाघिन अवनि की मौत का मुद्दा धीरे-धीरे राजनीति में तूल पकड़ता जा रहा है। शिवसेना इस मुद्दे को लेकर आने वाले शीतकालीन अधिवेशन में जोर शोर से उठा सकती है, बल्कि वह इसी मुद्दे पर पर्यावरण मंत्री सुधीर मुनगंटीवार को भी घेरने की कोशिश करेगी। इस बारे में उद्धव ठाकरे ने अपने सभी मंत्रियों और विधायकों को हिदायत भी दे दिया है। इसके अलावा शिवसेना मराठा आरक्षण, सूखा, महंगाई जैसे मुद्दों पर भी सरकार को घेरने की कोशिश करेगी।

अवनि पर घिरी सरकार 

शिवसेना के अलावा विपक्ष भी अवनि के मुद्दे पर सरकार को घेरने की कोशिश कर रहा है। इसके अलावा केंद्र की महिला और बाल विकास मंत्री मनेका गांधी ने भी राज्य सरकार के ऊपर नाराजगी जाहिर की है। मुद्दा इतना गरमा गया कि मेनका ने मुनगंटीवार को उनके पद से हटाने की भी मांग कर दी। 

आपको बता दें कि बाघिन अवनि कई जानवरों सहित 13 लोगों को अपना शिकार बना चुकी थी। इसके आतंक से 22 गांव वाले रात दिन डर के साये में जी रहे थे। लगभग एक महीना तक इसे पकड़ने की नाकाम कोशिश भी की गयी लेकिन यह पकड़ में नहीं आ सकी। इसके बाद मामला गरमाने पर सुप्रीम कोर्ट ने इसे मारने की अनुमति दे दी। इसके बाद राज्य सरकार के आदेश के बाद वन विभाग की तरफ से इस मार गिराया गया।

इसे मारने के बाद कई एनजीओ और वन्य प्रेमी लोगों ने सरकार के इस कदम की कड़ी निंदा की। इनका कहना था कि अवनि को मारने की बजाय बेहोश भी किया जा सकता था। आपको बता दें कि अवनि के दो बच्चे हैं जिसकी तलाश अब वन विभाग कर रहा है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें