अमित शाह से मिले फडणवीस, सत्ता को लेकर बोलने से बचते रहे

उन्होंने इस मुलाकात को महज एक सदिच्छा भेंट बताते हुए इतना कहा कि महाराष्ट्र में एक नई सरकार की आवश्यकता है, इसीलिए राज्य में जल्द से जल्द सरकार बननी चाहिए।

SHARE

 

महाराष्ट्र का राजनीतिक मचमच थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस मचमच को रोकने के लिए सोमवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस गृह मंत्री अमित शाह से मुलाक़ात की। मुलाकात के बाद उन्होंने पत्रकारों से राजनीतिक मुद्दे पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। हालांकि उन्होंने इस मुलाकात को महज एक सदिच्छा भेंट बताते हुए इतना कहा कि महाराष्ट्र में एक नई सरकार की आवश्यकता है, इसीलिए राज्य में जल्द से जल्द सरकार बननी चाहिए।                                                         

सोमवार को मुख्यमंत्री फडणवीस ने दिल्ली जाकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनाव के रिजल्ट आने के बाद  मुख्यमंत्री पहली बार अमित शाह से मुलाकात कर रहे थे। फडणवीस ने अमित शाह के साथ लगभग आधे घंटे तक बातचीत की।

हालांकि इस भेंट के बाद जब पत्रकारों ने फडणवीस से इस मुलाकात के बारे में सवाल किया तो फडणवीस कुछ भी बोलने से बचते रहे। लेकिन उन्होंने इतना जरुर कहा कि, महाराष्ट्र में पड़े सूखे और असमय बारिश से किसानों को काफी नुकसान हुआ है। उसी के संदर्भ में मैंने गृह मंत्री से मुलाकात की इसी मुद्दे पर हमारी बात हुई।

बीजेपी और शिव सेना के नेता इस बात से भी हैरान हैं कि जिस तरह हरियाणा चुनाव में अमित शाह एक्टिव थे, उतना एक्टिव वे महाराष्ट्र में नहीं हैं, ऐसा आखिर क्यों? इस पूरे राजनीतिक चर्चा में कहीं भी अमित शाह ने अभी तक कुछ भी नहीं बोला है।शायद यही कारण है कि अमित शाह के मीटिंग के बाद फडणवीस भी कुछ बोलने से बच रहे हो, इसका एक कारण और भी हो सकता है वो यह कि ऐसे कई मौके आए हैं जब शिव सेना ने फडणवीस के बयान पर आपत्ति जताई है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें