महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव- वर्ली विधानसभा


SHARE

वर्ली सीट महाराष्‍ट्र राज्‍य की 288 सीटों में से एक है। इस इलाके को मुंबई के सबसे पॉश इलाको में से एक है।   मुंबई साउथ सेंट्रल लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में आने वाला यह विधानसभा क्षेत्र स्‍थानीय राजनीतिक कार्यक्रमों का केंद्र भी कहा जाता है। इस सीट पर कांग्रेस, सीपीएम, शिवसेना और एनसीपी ने बारी बारी से जीत हासिल की है। वर्तमान में यहां से शिवसेना के सुनील शिंदे विधायक हैं। इससे पहले यह सीट एनसीपी के हाथ में थी। मुंबई के सात आईलैंड में से एक यह आईलैंड वर्ली के नाम से जाना जाता है।

समुद्र के किनारे बसा होने के चलते इस इलाके से पुर्तगाली व्‍यापारी भारत में व्‍यवसाय करने के लिए आते थे। वर्तमान में यह विधानसभा क्षेत्र बड़ी बड़ी इमारतों, अपार्टमेंट के लिए जाना जाता है।

आदित्य ठाकरे लड़ रहे है चुनाव 

ठाकरे परिवार से पहली बार कोई चुनाव लड़ रहा है। युवासेना प्रमुख और शिवसेना पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे वर्ली सीट से विधानसभा चुनाव लड़ रहे है।  53 साल के इतिहास में पहली बार सियासी मैदान में ठाकरे परिवार ताल ठोकता नजर आ रहा है। मुंबई राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के तत्कालीन अध्यक्ष सचिन अहीर इस साल जुलाई में शिवसेना में शामिल हुए, तो पार्टी ने स्पष्ट संकेत दिया कि आदित्य वर्ली से चुनाव लड़ेंगे। अहीर को अवैध शिकार करके, आदित्य ने यह सुनिश्चित किया कि सीट पर उसे चुनौती देने के लिए कोई मजबूत विपक्ष नहीं होगा।

शिवसेना का गढ़

वर्ली विधानसभा क्षेत्र शिवसेना के गढ़ के रूप में जाना जाता है। निर्वाचन क्षेत्र हाजी अली दरगाह, वर्ली नाका, फीनिक्स मॉल, लोअर परेल वेस्ट, कामगर नगर, सिद्धार्थ नगर और कोलीवाड़ा में फैला हुआ है। 1990 से 2004 तक, शिवसेना के दत्ताजी नलवाडे ने चार बार सीट जीती।

किस पार्टी को कितने वोट 

साल 2014 के विधानसभा चुनाव में इस इलाके से शिवसेना के सुनील शिंदे को 60,625 मत मिले थे वहीं एनसीपी के सचिन अहिर को 37,613 , बीजेपी के सुनील राणे को 30,849 और मनसे के विजय कुटतरकर को 8,423 मत मिले थे। वही साल 2009 के विधानसभा चुनाव में एनसीपी के सचिन अहिर को 52,398 , शिवसेना के आशिष चेंबूरकर को 47,104 और मनसे के संजय जामदार को 32,542 मत मिले। 

क्या है समस्याएं

वर्ली इलाके में ट्रैफिक सबसे बड़ी समस्या है। इसके साथ ही पुरानी चालो का रि-डेवलपमेंट भी इलाके में काफी बड़ा मुद्दा है। बीडीडी चाल का पुर्नवसन भी इलाके की मुख्य समस्याओं मे से एक है।

इस इलाके में कुल 265091 मतदाता है जिनमे से 149067 पुरुष मतदाता है और 116024 महिला मतदाता है। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें