BJP के नेताओं की संपत्तियों में इतनी वृद्धि, सुन कर चौंक जाएंगे आप


SHARE


पिछले पाँच वर्षों में राज्य सरकार में मंत्रियों की संपत्तियों में तीव्र गति से वृद्धि हुई है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की सरकार में 18 मंत्रियों की संपत्ति में 142.50 करोड़ रुपए की वृद्धि हुई है। यह जानकारी प्रजा फाउंडेशन द्वारा जारी आंकड़ों से मिली है।

किन नेताओं की कितनी संपत्ति?

इस साल के विधानसभा चुनावों में, भाजपा ने अपने 18 मंत्रियों को फिर से खड़ा किया  है। इन मंत्रियों ने नामांकन पत्र दाखिल करते समय हलफनामे से संपत्ति की घोषणा की है। पिछले चुनाव के इस हलफनामे और वर्तमान में दिए गये हलफनामे का अध्ययन प्रजा फाउंडेशन ने किया है। इसके मुताबिक पिछले 5 वर्षों में इन मंत्रियों की संपत्ति में 80 फीसदी की वृद्धि हुई है। इन मंत्रियों की संपत्ति साल 2014 में 179.80 करोड़ थी जो अब बढ़ कर 322.50 करोड़ हो गयी है।

वैसे तो यह नहीं कहा जा सकता है कि भ्रष्टाचार या अवैध तरीके से इन मंत्रियों की संपत्ति में वृद्धि हुई थी। प्रजा फाउंडेशन के अध्यक्ष मिलिंद म्रहसकर ने कहा कि संपत्ति की दामों में वृद्धि होने और वैध तरीके से भी संपत्ति की कीमतों में वृद्धि होती है। पुणे के कोथरुड से बीजेपी के उम्मीदवार चंद्रकांत पाटिल के पास 2014 में 3.2 करोड़ रुपए की  संपत्ति थी जो अब बढ़कर 29 करोड़ 8 लाख रुपये हो गयी है। जल संसाधन मंत्री बबनराव लोणीकर की संपत्ति में सबसे अधिक 27.10 करोड़ रुपए संपत्ति की वृद्धि हुई है। सामाजिक न्याय मंत्री सुरेश खाडे, अशोक उइके, राम शिंदे, संजय कूटे और जयकुमार रावल जैसे नेताओं की संपत्तियों में भी वृद्धि हुई है। लोक निर्माण मंत्री एकनाथ शिंदे की संपत्ति 7.50 करोड़ रुपये से बढ़ कर अब 11.60 करोड़ रुपए हो गयी।

जबकि महिला बाल विकासमंत्री पंकजा मुंडे की संपती 2014 में 13.70 करोड़ थी जो अब बढ़ कर 35.40 करोड़ रूपये हो गयी है। यही नहीं सहकार मंत्री सुभाष देशमुख की सम्पत्ति 2014 में 31.90 करोड़ रूपये थी जो अब यानी 2019 में बढ़ कर  48.50 करोड़ रूपये हो गयी है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें