SHARE

अपनी विभिन्न मांगों को लेकर हजारों किसान मोर्चे के रूप में मुंबई में दाखिल होने के बाद गुरूवार की सुबह आजाद मैदान के लिए रवाना हुए। इसके पहले किसानो ने रात सायन स्थित मैदान में गुजारी। गुरूवार तड़के 4 बजे ही यह किसान मोर्चा आजाद मैदान की तरफ कुछ कर गया। सुबह 8 बजे यह मोर्चा परेल पहुंचा, मोर्चे के कारण परेल और दादर की सड़कों पर काफी जाम की स्थिति देखने को मिली।

करेंगे विधनसभा का घेराव 
बताया जाता है कि ये किसान 11 बजे तक आजाद मैदान पहुंच जाएंगे। इसके बाद इन किसानों की योजना विधानभवन का घेराव करने की भी है। चूंकि इस समय अधिवेशन भी चल रहा है इसीलिए किसानों को विधानभवन की तरफ जाने से रोकने के लिए पुलिस ने पुख्ता प्रबंध भी किए हैं।

क्या है किसानों की मांग
इन किसानों की मांग है कि स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू किया जाए, इसके साथ ही न्यूनतम समर्थन मूल्य भी घोषित किया जाए, यही नहीं किसानों को सूखे के लिए मुआवजा, कर्ज माफ़ी, किसानों के लिए भूमि अधिकार और खेतिहर मजदूरों के लिए मुआवजे की भी मांग की है। इसके पहले इन किसनों से मिलने के लिए कैबिनेट मंत्री गिरीश महाजन पहुंचे थे लेकिन किसानों ने यह कह कर उनसे मिलने से मना कर दिया कि उन्हें केवल आश्वासन नहीं चाहिए। किसानों का कहना है कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं की जाएगी तब तक वे आजाद मैदान पर ही डटे रहेंगे।

आपको बता दें कि 8 महीने पहले भी किसान नासिक से ऐसा ही पैदल मार्च करते हुए मुंबई पहुंचे थे।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें