Advertisement

हिम्मत है तो गिरफ्तार करके दिखाओ, मनसे का प्रशासन को ओपन चैलेंज

पुलिस ने इस आयोजन की अनुमति देने से इनकार कर दिया है और इस आयोजन के आयोजक अमेय खोपकर को नोटिस भी जारी कर दिया।

हिम्मत है तो गिरफ्तार करके दिखाओ, मनसे का प्रशासन को ओपन चैलेंज
SHARES

मराठी दिवस के अवसर पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (Maharashtra navnirman sena) ने दादर (dadar) के छत्रपति शिवाजी महाराज उद्यान में एक कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया था, लेकिन कोरोना के मद्देनजर प्रशासन की तरफ से इस कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी गई। जिसके बाद मनसे नेता अमेय खोपकर (amey khopkar) ने भी कार्यक्रम को आयोजित करने की जिद पकड़ ली, जिसके बाद प्रशासन ने अमेय को नोटिस भेज दिया। अब मनसे के नेताओं का कहना है कि, प्रशासन में दम है तो अमेय को गिरफ्तार करके दिखाए।

मराठी भाषा दिवस के अवसर पर, MNS अध्यक्ष राज ठाकरे ने MNS कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया है कि MNS की प्रत्येक शाखा में हस्ताक्षर अभियान चलाया जाए। दादर  पार्क मनसे कार्यकर्ताओं की तरफ से भी कार्यक्रम का आयोजन करने का निर्णय लिया गया था। लेकिन पुलिस ने इस आयोजन की अनुमति देने से इनकार कर दिया है और इस आयोजन के आयोजक अमेय खोपकर को नोटिस भी जारी कर दिया।

इसे लेकर अमेय खोपकर ने नाराजगी प्रकट किया है।उनका कहना है कि, सरकार की तरफ से कोरोना को रोकने के लिए जो नियम बनाए गए हैं, उन नियमों का सख्ती से पालन करते हुए, MNS ने मराठी भाषा दिवस केे अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन करने का निर्णय लिया था। लेकिन प्रशासन ने कोरोना का हवाला देते हुए कार्यक्रम की अनुमति देने से इनकार कर दिया, और कार्रवाई की धमकी दी है।

उन्होंने आगे कहा, संजय राठौर (sanjay rathour) जैसे मंत्री, जिनके खिलाफ गंभीर आरोप हैं, उनके लाखों समर्थक एक साथ आकर अपनी ताकत का प्रदर्शन करते हैं, ऐसी भीड़ पर कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं होती, महाबिगाड़ी सरकार का दिमाग स्थिर नहीं है। यह सील हो चुका है। लेकिन इससे परे, अब यह संदेह है कि यह सरकार अमराठी है क्या?

अमेया खोपकर ने कहा कि हम सभी नियमों का पालन करते हुए योजनाबद्ध कार्यक्रम को आगे बढ़ाएंगे।

तो दूसरी ओर, एमएनएस महासचिव संदीप देशपांडे (sandeep deshpande) ने ट्वीट कर कहा है कि, अमेय खोपकर को गिरफ्तार करके दिखाओ।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें