PMC Crisis: तीन चौथाई यानी 78 फीसदी से अधिक खाताधारक अब निकाल सकेंगे अपनी पूरी जमाराशि

वित्‍त मंत्री ने बताया कि आपात परिस्थितियों या फिर शादी, मेडिकल जैसे अन्य जरूरतों के समय खाताधारक 50 हजार के बजाया एक लाख तक की निकासी कर सकेंगे।

SHARE


वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पंजाब एंड महाराष्‍ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) के खाताधारकों को बड़ी राहत देते हुए घोषणा की है कि कुछ शर्तों या फिर आपात परिस्थितियों में खाताधारक 50 हजार के बजाय एक लाख रुपए तक की निकासी कर सकेंगे। वित्‍त मंत्री ने सोमवार को लोकसभा में पूछे गये एक प्रश्न का जवाब देते हुए इसकी जानकारी दी। बता दें कि मौजूदा प्रावधानों के तहत  PMC बैंक के खाताधारक 50,000 रुपये निकाल सकते हैं।

RBI के आपातकालीन प्रावधान के तहत नियम 

पंजाब एंड महाराष्‍ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) में हुए हजारों करोड़ रुपए के घोटाले के शिकार खाताधारकों को सरकार की तरफ से वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बड़ी राहत दी है। वित्‍त मंत्री ने बताया कि आपात परिस्थितियों या फिर शादी, मेडिकल जैसे अन्य जरूरतों के समय खाताधारक 50 हजार के बजाया एक लाख तक की निकासी कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि ऐसा RBI के आपातकालीन प्रावधानों के तहत किया जा सकता है।

लोकसभा में जवाब देते हुए निर्मला सीतारमण ने कहा कि, तकरीबन 78% खाताधारकों को पूरी जमाराशि निकालने की मंजूरी दे दी गई है। ये लोग छोटे खाताधारक हैं। इसके साथ (आपात परिस्थितियों में एक लाख रुपये की निकासी) ही छोटे खाताधारकों की चिंताओं का पूरा-पूरा ध्‍यान रखा गया है।' 

इसके तहत पीएमसी बैंक से निकासी को लेकर केंद्र सरकार की ओर से किए नए प्रावधान से तीन चौथाई (78%) से ज्‍यादा खाताधारक अपनी पूरी जमाराशि निकाल सकेंगे। 

घोटाले के आरोपियों के संदर्भ में वित्‍त मंत्री ने बताया कि PMC बैंक के प्रमोटर्स की संपत्ति को जब्‍त कर उसे बेचने की प्रक्रिया चल रही है उन्होंने आगे कहा कि, संपत्तियों के बेचने से जो पैसे आएंगे उससे पीड़ित खाताधारकों के पैसे लौटाए जाएंगे। हालांकि, वित्‍त मंत्री ने इस पूरी प्रक्रिया के पूरा होने की अवधि नहीं बताई।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें