तीन साल में पूरा होगा मुंबई दिल्ली एक्सप्रेस वे

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि दिल्ली से मुंबई अपनी कार से ड्राइव करके 12 घंटे में पहुंचा जा सकेगा।

SHARE

मुंबई(mumbai) से दिल्ली(delhi) सड़क के जरिये कम समय में पहुंचने का सपना अब जल्द ही पूरा हो सकता है।   केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी(nitin gadakari) ने कहा है कि दिल्ली से मुंबई अपनी कार से ड्राइव करके 12 घंटे में पहुंचा जा सकेगा। तीन साल में दिल्ली-मुबई एक्सप्रेसवे(delhi mumbai expressway) प्रोजेक्ट तैयार हो जाएगा। इन योजनाओं की लागत 3.10 लाख करोड़ रुपए है।मोदी सरकार(modi goverment) की योजना देश में 22 एक्सप्रेसवे और हरित गलियारे में से तीन का निर्माण तीन साल में पूरा करने की है।एक्सप्रेसवे पर 10 लाख पौधे भी लगाए जाएंगे।

हर तरह की होगी सुविधा
50 किलोमीटर के अंतराल पर पेट्रोल पंप, रेस्तरां की व्यवस्था के साथ ही सोलर प्लांट(solar plant) व रेनहार्वेस्टिंग सिस्टम भी लगाए जाएंगे। इसके साथ ही एक्सप्रेसवे के किनारे शहर, इंडडस्ट्रियल एरिया व ट्रांसपोर्ट नगर भी बसाया जाएगा।  एक्सप्रेसवे के 40 फीसदी काम का आवंटन हो चुका है और बाकी 50 फीसदी के लिए निविदा की प्रक्रिया चल रही है। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के लिए जमीन अधिग्रहण के मामले में 90 फीसदी तक काम पूरा हो चुका है। 

1,320 किलोमीटर लंबाई

दिल्ली-मुंबई देश का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे होगा।इस एक्सप्रेसवे की लंबाई  होगी। इस एक्सप्रेसवे की मदद से दिल्ली से मुंबई की यात्रा का समय 24 घंटे से घटकर 12 घंटे रह जाएगा। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात के पिछड़े और जनजातीय जिलों से गुजरता है।एक्सप्रेसवे बनने से गुड़गांव और मुंबई के बीच की दूरी 1450 किलोमीटर से घटकर 1250 किलोमीटर हो जाएगी। 

इस एक्सप्रेसवे को 8 लेन का बनाया जाएगा। इससे सिर्फ 12 घंटे में ही मुंबई पहुंचा जा सकेगा। इस एक्सप्रेसवे के बनने पर एक ट्रक जो दिल्ली मुंबई के बीच 6 या 7 चक्कर लगा पाता है, वह 11 से 12 चक्कर लगा सकेगा

यह भी पढ़े- रहें तैयार, मुंबई में फिर दस्तक देगी ठंडी

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें