20 फीसदी बच्चे कुपोषण के शिकार

 Mumbai
20 फीसदी बच्चे कुपोषण के शिकार
20 फीसदी बच्चे कुपोषण के शिकार
20 फीसदी बच्चे कुपोषण के शिकार
See all

मुंबई - मुंबई में 20 फीसदी से ज्यादा बच्चे कुपोषण के शिकार हैं। खासकर धारावी, मानखुर्द, गोवंडी और कुर्ला विभाग में 2011 से 2015 तक किए गए सर्वे के मुताबिक यहां के 13 फीसदी बच्चे कुपोषित हैं। इस मुद्दे पर क्राय संस्था की ममता सेन ने पत्रकार परिषद में कहा कि सरकार को इस मामले में गंभीरता दिखानी चाहिए नहीं तो यह आंकड़ा और भी बढ़ सकता है। इस मौके पर स्नेहा संस्था की वेनेसा डिसूजा और कुमार निनाई उपस्थित हुए। शुरूआत में इन इलाकों में कुपोषण का आंकड़ा 18 फीसदी था, लेकिन सामाजिक संस्थाओं द्वारा चलाए गए आहार उपक्रम, समुपदेशन, उपयुक्त दवा और घर जाकर जांच के चलते 2015 में कुपोषण का आंकड़ा 13 फीसदी पर आ गया।

बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए जरुरी है कि उन्हें सही और संतुलित आहार दिया जाए। दूध, अनाज, दालें, मौसमी फल और हरी सब्जीयां, बच्चें को किसी ना किसी रूप में जरूर दे। सही समय पर खाना खाने की आदत डालें। एक ही प्रकार का खाना देने की बजाय, थोड़ा बदलाव करके खाना दें। लंच में ब्रेड देने की बजाए, रोटी सब्जी दें। बच्चें को सुबह का नाश्ता जरूर कराए। दिन में खाने के साथ फल व सलाद दें, शाम को दूध या दूध के उत्पाद और रात को थोड़ा हल्का खाना खिलाएं।

Loading Comments