Advertisement

नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश वाले पत्र पर एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने खड़े किये सवाल!

पुणे पुलिस ने भिमा कोरेगांव मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया जिनके पास से कथित तौर पर प्रधानमंत्री की हत्या की कोशिश का पत्र मिला है।

नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश वाले पत्र पर एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने खड़े किये सवाल!
SHARES

रविवार को एनसीपी के एक कार्यक्रम में बोलते हुए शरद पवार ने कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या करने की साजिश करने वाले पत्र का इस्तेमाल सहानुभूति लेने के लिए किया जा रहा है। पत्र को शरद पवार ने खारिज करते हुए कहा है की एक रिटायर्ड सीआईडी अधिकारी ने उन्हें बताया है कि पत्र में ऐसा कुछ है नहीं और इसका इस्तेमाल सिर्फ सहानुभूति लेने के लिए किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने गिरफ्तारी के मामले पर कहा कि सत्ता का दुरुपयोग किया जा रहा है।


20वें स्‍थापना दिवस पर बोले शरद पवार

पुणे में राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के 20वें स्‍थापना दिवस के अवसर पर बोलते हुए शरद पवार ने कहा, 'वो कहते हैं कि धमकीभरा पत्र मिला है, आज एक रिटायर्ड पुलिस अधिकारी मुझसे मिले, उन्‍होंने पूरी जिंदगी सीआईडी में काम किया है, उस अधि‍कारी ने मुझे बताया कि इन खतों में कुछ दम नहीं है, अगर धमकी के खत आते हैं तो कोई अखबार को नहीं बताता। सीआईडी को सूचित करता है और सतर्कता बरती जाती है।

यह भी पढ़े- 12 जून को राहुल गांधी मुंबई में , 1000 ऑटो रिक्शा चालक करेंगे स्वागत

सत्ता का दुरुपयोग
पवार ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा की 'जब एकसमान सोचवाले लोगों ने मिलकर एल्गार परिषद का आयोजन किया तो उन्हें नक्सली कहकर गिरफ्तार कर लिया गया। सब जानते हैं कि भीमा-कोरगांव में हिंसा किसने की लेकिन जिनका इससे कोई संबंध नहीं है, वे गिरफ्तार हो गए। यह सिर्फ सत्ता का दुरुपयोग है बस।'

Read this story in English
संबंधित विषय
Advertisement