देश के हर व्यक्ति पर 65 हजार रूपये का कर्ज- एनसीपी

मलिक ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने देश पर 84 लाख करोड़ रुपये कर्ज का बोझ बढ़ा दिया है। जबकि यूपीए सरकार के दौरान यह कर्ज 42 लाख करोड़ रुपये था। लेकिन अब कर्ज दोगुने हो गए हैं।

SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव से पहले हर किसी के खाते में 15 लाख रुपये आने का जो जुमला फेंका था ठीक वही जुमला राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल भी ऐसा ही कर रहे हैं। यह कहना है एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक का. मलिक पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे।

पत्रकारों से बात करते हुए नवाब मलिक ने कहा कि राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने अभी बयान दिया था कि 2022 तक देश के सभी नागरिक अमीर हो जाएंगे। जिस तरह से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जुमला फेंका था ठीक वही जुमला चंद्रकांत पाटील भी फेंक रहे हैं। भाजपा नेताओं को इस तरह की जुमलेबाजी बंद करनी चाहिए। मलिक ने कहा कि अगर इसी तरह से वे सपने दिखाते हैं, लेकिन जनता उनके झांसे में नहीं आएगी।

मलिक ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने देश पर 84 लाख करोड़ रुपये कर्ज का बोझ बढ़ा दिया है। जबकि यूपीए सरकार के दौरान यह कर्ज 42 लाख करोड़ रुपये था। लेकिन अब कर्ज दोगुने हो गए हैं। साथ ही, एनसीपी के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल ने भी कहा कि मोदी सरकार के शासन में हर व्यक्ति के सिर पर 65 हजार रूपये का कर्ज चढ़ा है।

संबंधित विषय