राष्ट्रवादी का कांग्रेस में होगा विलय?

विरोधी पक्ष नेता का पद पाने के लिए कमसे कम 55 सीटों की आवश्यक्त होती है। वहीं इस चुनाव में एनसीपी के 5 सांसद चुनकर आए हैं और अगर एनसीपी कांग्रेस में विलीन होती है, तो कांग्रेस की संख्या 57 हो जाएगी।

SHARE

राष्ट्रवादी कांग्रेस के अध्यक्ष शरद पवार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मुलाकात के बाद से राष्ट्रवादी कांग्रेस का कांग्रेस पार्टी में विलय होगा, इस तरह की चर्चाएं राजनौतिक गलियारों में जोरों पर है। लेकिन इस पर अभी किसी ने मुहर नहीं लगाई है। साथ ही राजनीति के जानकार इसे अफवाह करार दे रहे हैं। साथ ही पवार ने कहा है कि राहुल के साथ यह बैठक अध्यक्ष पद को लेकर हुई है। 

विरोधी पक्ष नेता के लिए जुगत

लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने कांग्रेस को बड़े अंतर से हराया है। बीजेपी ने खुद के दम पर 302 सीटें और एनडीए के रूप में 352 सीटें जीती हैं। कांग्रेस को इस चुनाव में महज 52 सीटें ही हासिल हुई हैं, जिसके चलते विपक्ष नेता का पद मिलना मुश्किल है। विरोधी पक्ष नेता का पद पाने के लिए कमसे कम 55 सीटों की आवश्यक्त होती है। वहीं इस चुनाव में एनसीपी के 5 सांसद चुनकर आए हैं और अगर एनसीपी कांग्रेस में विलीन होती है, तो कांग्रेस की संख्या 57 हो जाएगी। इसका नतीजा यह होगा कि कांग्रेस को अन्य विरोधी दल के सामने हाथ नहीं फैलाने पड़ेंगे। 

राहुल का इस्तीफा

वहीं दूसरी ओर राहुल गांधी बड़ी हार के बाद अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के निर्णय पर डटे हुए हैं।  परंतु उनकी पार्टी के लोगों का मत है कि पार्टी में ऐसा कोई नहीं है जो राहुल की जगह ले सके, इसलिए उन्हें अध्यक्ष पद नहीं छोड़ना चाहिए। शरद पवार ने भी उनसे अध्यक्ष पद पर बने रहने की अपील की है। साथ ही बैठक में महाराष्ट्र की स्थितियों पर चर्चा की गई।  

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें