किसी भी कीमत पर किसी भी धार्मिक सभा की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए: महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे

“If required, I will speak to organisers but don’t allow any such event till we defeat crisis of coronavirus,” Maharashtra CM Uddhav Thackeray said.

किसी भी कीमत पर किसी भी धार्मिक सभा की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए: महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे
SHARES

दिल्ली के निजामुद्दीन पश्चिम में तब्लीगी जमात की रैली के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को राज्य प्रशासन को सूचित किया कि किसी भी तरह के धार्मिक आयोजन की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि तब्लीगी जमात ’जैसी किसी भी घटना को रोकने के लिए किया जा रहा है।  ठाकरे ने जिला कलेक्टरों से कहा कि किसी भी कीमत पर धार्मिक कार्यक्रम, कार्यक्रम या सभा की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।


 महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं आयोजकों से बात करूंगा, लेकिन जब तक हम कोरोनोवायरस के संकट से उबरते नही है तब तक दिल्ली में धार्मिक सभा में भाग लेने वालों से आग्रह करते हैं कि वे परीक्षण के लिए आगे आएं और राज्य का सहयोग करें।   13 मार्च को तब्लीगी जमात के आयोजन के लिए निजामुद्दीन क्षेत्र में लगभग 3,400 लोग एकत्रित हुए थे। धार्मिक सभा में उपस्थित लोगों में से कुछ विदेश से आए थे और ये लोग कोरोना सकारात्मक पाये गए थे।



दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने "गंभीर अपराध" करने के लिए पहले आयोजकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि वहां रहने वाले 24 लोगों को कोरोनावायरस या COVID-19 पॉजिटिव पाया गया है।


 इससे पहले, मरकज़ निज़ामुद्दीन को सील कर दिया गया था और शहर के विभिन्न हिस्सों में 700 लोगों को बसों में निकाल दिया गया था महाराष्ट्र के सार्वजनिक स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने मंगलवार को बताया कि अधिकारियों को उन नागरिकों (महाराष्ट्र से) का पता लगाने का निर्देश दिया गया है, जो शायद दिल्ली के निजामुद्दीन पश्चिम में धार्मिक सभा में गए थे।


 2 अप्रैल तक, महाराष्ट्र में, सकारात्मक COVID-19 मामलों की संख्या बढ़कर 338 हो गई है, जबकि मरने वालों की संख्या राज्य में 13 हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोनावायरस या सीओवीआईडी -19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी बंद की घोषणा की।  महाराष्ट्र सरकार कोरोनोवायरस प्रकोप के आर्थिक प्रभाव का सामना कर रही है।






संबंधित विषय