500 और 1000 रुपए के नोट बंद


  • 500 और 1000 रुपए के नोट बंद
  • 500 और 1000 रुपए के नोट बंद
  • 500 और 1000 रुपए के नोट बंद
  • 500 और 1000 रुपए के नोट बंद
  • 500 और 1000 रुपए के नोट बंद
  • 500 और 1000 रुपए के नोट बंद
  • 500 और 1000 रुपए के नोट बंद
SHARE

मुंबई - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भ्रष्टाचार और कालाधन पर कमान कसने के लिए मंगलवार को कड़ा कदम उठाया है। पीएम ने कहा कि मंगलवार की आधीरात 12 बजे से 500 और 1000 रुपए के नोट बंद हो जाएंगे। पुराने नोट बैंक और डाकघरों में 10 नवंबर से 30 दिसंबर तक जमा किए जा सकते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि बुधवार को देश के सभी बैंक बंद रहेंगे।

पीएम ने कहा कि ऐसे भारतीय जिनके रगो में ईमानदारी दौड़ती है जो यह सोचते हैं कि भ्रष्टाचार, कालाधन, आतंकवाद, जाली नोटों के खिलाफ एक निर्णायक कार्रवाई की जरूरत है। आज देश की मुद्रा व्यवस्था का हाल यह है कि मुद्रा का 80 से 90 प्रतिशत 500 और 1000 रुपए के नोटों का है। देश को भ्रष्टाचार और कालाधन के दीमक से मुक्त कराने के लिए एक और सख्त कदम उठाने का वक्त आ गया है।

अर्थशास्त्री चंद्रकांत नेने का कहना है कि बीते कुछ सालों में भारत में काला धन बड़े पैमाने पर बढ़ा है। इस निर्णय से हजारो करोड़ का काला धन जीरो में बदलने वाला है। इसके अलावा पाकिस्तान से जो पैसा भारत में आता था उस पर रोक लगेगी। इस निर्णय से भ्रष्टाचार पर कमान कसने में जरूर मदद मिलेगी। 100 फीसदी तो नहीं पर मदद जरूर मिलेगी। स्टॉक मार्केट पर इसका तत्काल परिणाम देखा जाएगा। भविश्य में इस निर्णय से जरूर लाभ होगा।

मोदी की स्पीच के प्रमुख बिंदु -
मंगलवार की आधी रात से 500 और 1000 के नोट बंद होंगे।
पुराने नोट बैंक और डाक घरों में जमा कराने का 10 नवंबर से 30 दिसंबर तक का वक्त ।
भ्रष्टाचार पर लगाम कसने के लिए उठाया गया कदम
500 और 1000 के नोट 50 दिनों के भीतर जमा कराने होंगे, आयडी फ्रूफ दिखाकर।
9 और 10 नवंबर को ATM काम नहीं करेगा।
72 घंटे तक पुराने नोटों से दवाई खरीदी जा सकती है।
शुरू में ATM से सिर्फ 2000 रुपये ही निकाल सकेंगे।
11 नवंबर तक रेलवे टिकट खरीदा जा सकेगा।
विदेश जाने वाले 5000 रुपये ही बदल सकेंगे।
ऑन लाइन पर कोई रोक नहीं लगेगी।
देशवासियों से बढ़ चढ़ कर सहयोग करने की मांग ।
500 और 2000 रुपये के नए नोट जारी किए जाएंगे।

 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें