उद्धव का बड़ा बयान, मौत के बाद अपने लोगों को भूल जाती है बीजेपी


SHARE

पालघर के लोकसभा उपचुनाव में शिवसेना ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे बुधवार को विरार में अपनी रैली की तो गुरुवार को मोखाडा में प्रचार अभियान को जारी रखा। पूरे जोश में नजर आ रहे उद्धव ने अपनी इस प्रचार के दौरान भी बीजेपी पर निशाना साधा। उद्धव के निशाने पर मुख्यरूप से योगी और मोदी रहे।


तो मैं बीजेपी का प्रचार करता 
योगी ने तंज कसते हुए उद्धव ठाकरे को कहा था कि श्रीनिवास वनगा हमारी पार्टी के थे, शिवसेना को इसमें नाक घुसाने की कोई जरूरत नहीं थी। इसके जवाब में उद्धव ने कहा कि पालघर लोकसभा सीट को लेकर शिवसेना ने कभी भी वहां अपना उम्मीदवार खड़ा करने का निर्णय नहीं लिया था। अगर बीजेपी ने श्रीनिवास वनगा को टिकट दिया होता तो मैं आज यहां बीजेपी की तरफ से प्रचार करने आता।

 
मौत के बाद भूल जाना बीजेपी की संस्कृति 
उद्धव ठाकरे ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि चुनाव जितने के लिए बीजेपी को चिंतामन वनगा की फोटो चाहिए लेकिन उनके बेटे श्रीनिवास को टिकट नहीं दिए। ठाकरे ने आगे कहा कि नेता या फिर कार्यकर्त्ता की मौत के बाद उसे भूल जाना यह बीजेपी की संस्कृति है लेकिन शिवसेना इस राह पर कभी नहीं जायेगी।

प्रचार के बाहरी लोगों को बुला रही बीजेपी 
योगी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि कोई भी बाबा आता है और लोगों को बरगला कर चला जाता है। लेकिन मैं यहां आपके लिए आया हूं, आपसे मिलने और बात करने आया हूं। उद्धव ने कहा वनगा के बाद अब बीजेपी के प्रचार के लिए जब उन्हें कोई नहीं मिल रहा है तो वे बाहर से आदमी बुला रहे हैं।


'थैली दो बीजेपी में जाओ'
उद्धव ले लगातार हमला जारी करते हुए कहा कि बीजेपी अब भगवा विचार वाली पार्टी नहीं रही, पार्टी में कोई भी 'थैली' देकर प्रवेश पा सकता है। लेकिन शिवसेना में ऐसा नहीं है. शिवसेना का धन उसके लोग ही हैं।
 

आपको बता दें कि 28 मई को पालघर में चुनाव होने वाले हैं। सभी शिवसेना सहित बीजेपी और क्षेत्रीय पार्टियों के उम्मीदवारों ने प्रचार में अपनी जान तक फूंक दी हैं। अब यह तो 28 मई को ही पता चल पायेगा कि यह चुनावी ऊंट किस करवट बैठता है।

संबंधित विषय