मुआवजे का भुगतान 15 दिन के अंदर हो- उद्धव ठाकरे


SHARE

फसल बीमा के मुद्दे पर शिवसेना अब आक्रामक हो गयी है। किसानों को उनका हक दिलाने के लिए, बुधवार को शिवसेना  ने उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में अपने निवास स्थान मातोश्री से लेकर बीकेसी स्थित बीमा कंपनी भारती एक्सा के कार्यालय तक एक रैली कर विरोध प्रदर्शन किया। इस रैली में उद्धव के अलावा उनके बेटे आदित्य ठाकरे सहित पार्टी के सभी बड़े मंत्री और नेता थे।

'15 दिन के भीतर हो भुगतान'
बीमा कंपनी के बीकेसी कार्यालय पहुंचकर उद्धव ठाकरे ने वहां मौजूद शिवसेना समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा कि ये कंपनियां विभिन्न मानदंडों का उपयोग करके किसानों को फसल बीमा से वंचित कर रही हैं। इसलिए, मोर्चा के माध्यम से इन कंपनियों को चेतावनी दी जा रही है कि ये बीमा कंपनियां किसानों की फसल के क्षतिग्रस्त होने पर मुआवजे के लंबित दावों का भुगतान मात्र 15 दिन के भीतर कर देना चाहिए। उन्होंने कहा यह रैली किसानों की समस्या और उसका समाधान तलाशने के लिए है।

'मोर्चा सरकार के खिलाफ नहीं' 
उद्धव ने आगे कहा कि शिवसेना सरकार में है। हालांकि, यह मोर्चा सरकार के खिलाफ नहीं है। यह बीमा कंपनियों के खिलाफ एक मोर्चा है। भले ही सरकार योजना को लागू करना चाहती हो, लेकिन इसे लागू किया जा रहा है और फिर भी कुछ मानदंडों के आधार पर इसे परेशान किया जा रहा है। ऐसी कंपनियों पर शिवसेना का दबाव होगा।

'कौन है काली बिल्ली'
बीमा कंपनियों सहित उन्होंने विपक्षी कांग्रेस और राकांपा पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधाते हुए उन्हें काली बिल्ली बताया   और कहा कि, कुछ लोगों ने इस रैली को नाटक बताकर इसकी आलोचना की थी। ये वही लोग हैं जो किसी काम के नहीं हैं क्योंकि इन्होंने किसानों के मुद्दों को हल नहीं किया है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें