आंतकी हमले के बाद पूरे देश में प्रदर्शन, सरकार के पाकिस्तान को सबक सिखाने की मांग

कश्मीर में हुए आंकी हमले में अब तक लगभग 41 जवान शहीद हो गए है

  • आंतकी हमले के बाद पूरे देश में प्रदर्शन, सरकार के पाकिस्तान को सबक सिखाने की मांग
SHARE

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को बड़ा आतंकी हमला हुआ है। इस आतंकी हमले में अब तक 41 जवान शहीद हो गए है। हमले की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है। जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी। धमाका इतना जोरदार था की बस के परखच्चे उड़ गए। करीब 10 किलोमीटर तक धमाके की आवाज सुनाई दी।

केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के अधिकतर जवान छुट्टियां बिताने के बाद ड्यूटी पर लौट रहे थे। जम्मू कश्मीर हाईवे पर अवंतिपोरा इलाके में अपराह्न करीब 3:15 बजे आतंकियों ने घात लगाकर हमला किया। आत्मघाती हमलावर की पहचान पुलवामा के काकापोरा निवासी आदिल अहमद के तौर पर हुई है। आदिल 2018 में जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हुआ था। कुछ दिन पहले सुरक्षा बलों ने उसे घेर लिया था, लेकिन वह चकमा देकर भाग निकला था।

इस आतंकी हमले के बाद पूरे देश में गुस्सा है। नेता से लेकर अभिनेता और आम आदमी तक इसके विरोध में सड़को पर आ गया है तो वही सोशल मीडिया पर भी शहीदों के समर्थन में लोग खड़े हो गए है।





नेता और अभिनेताओं के साथ साथ आम आदमी ने भी जवानों पर हुए इस हमले का जमकर विरोध किया है। कल्याण इलाके में स्कूली छात्रों और स्थानिय लोगों की ओर से हमले के विरोध में प्रदर्शन रैली निकाली गई और सरकार से पाकिस्तान को सबस सिखाने की भी मांग की गई।


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें