एक बार फिर सार्वजानिक मंच पर नितिन गडकरी की तबियत बिगड़ी

गडकरी के स्वास्थ्य की जांच सोलापुर में स्थानीय चिकित्साधिकारी ने भी की, जांच के बाद चिकित्सक ने उनका बीपी और सुगर लेवल सामान्य होने की बात कही।

SHARE

एक कार्यक्रम में भाग लेने के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की तबियत खराब हो गई। कार्यक्रम में उस समय राष्ट्रगान चल रहा था, उसी समय गडकरी को चक्कर आने लगा। इसके बाद राष्ट्र गान के बीच में ही उन्हें सहारा देकर बैठाया गया। आपको बता दें कि इसके पहले भी दिसंबर 2018 में महाराष्ट्र के अहमदनगर में एक दीक्षांत समारोह में भी उनको चक्कर आ गया था।

क्या हुआ आज?
बता दें कि गडकरी महाराष्ट्र के सोलापुर में स्थित पूण्यश्लोक अहिल्यादेवी होलकर सोलापुर विश्वविद्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुआत में जब राष्ट्रगान चल रहा था तभी गडकरी को बेचैन होने लगे और उन्हें चक्कर आने लगा। जिसके बाद उनके पीछे मौजूद सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें सहारा देकर बैठाया।

गडकरी के स्वास्थ्य की जांच सोलापुर में स्थानीय चिकित्साधिकारी ने भी की, जांच के बाद चिकित्सक ने उनका बीपी और सुगर लेवल सामान्य होने की बात कही।  

'चिंता की कोई बात नहीं'
यही नहीं उनके एक करीबी ने बताया कि गले में इंफेक्शन के चलते उन्होंने स्ट्रॉन्ग ऐंटीबायोटिक दवा ली थी जिसके कारण उन्हें चक्कर आ गया था। हालांकि डॉक्टरों ने कोई भी चिंता करने की बात नहीं कही है. गडकरी अपना दौरा समाजी रूप से जारी रखेंगे।

पहले भी हो चुकी है तबियत खराब
गौरतलब है कि यह कोई पहली बार नहीं है जब गडकरी सार्वजनिक रूप से बीमार पड़े हो। इसके पहले इसी साल अप्रैल महीने में शिवसेना उम्‍मीदवार सदाशिव लोखंडे के लिए चुनाव प्रचार करने के लिए शिर्डी पहुंचे गडकरी की तबियत उस समय खराब हो गयी जब वे सार्वजनिक मंच से लोगों को संबोधित कर रहे थे। इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने उनको संभाल लिया। यही नहीं दिसंबर 2018 में महाराष्ट्र के अहमदनगर के महात्मा फूले कृषि कॉलेज में आयोजित दीक्षांत समारोह में भी उन्हें चक्कर आ गया था तब महाराष्ट्र के राज्यपाल विद्यासागर ने उनको संभाला था।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें