वडाला कस्टडी डेथ मामला- एनसीपी ने राज्य मानवाधिकार आयोग से की जांच की मांग

मलिक के साथ संजय तटकरे और क्लाइड क्रैस्टो सहित पार्टी के अन्य प्रवक्ता भी थे।

SHARE

वडाला कस्टडी डेथ मामले में  एनसीपी ने गुरुवार को महाराष्ट्र राज्य मानवाधिकार आयोग से संपर्क किया और हाल ही में एक 26 वर्षीय व्यक्ति की संदिग्ध हिरासत में मौत की जांच की मांग की। पार्टी के शहर इकाई के अध्यक्ष और  मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक के नेतृत्व में एक एनसीपी प्रतिनिधिमंडल ने MSHRC के कार्यकारी अध्यक्ष एमए सईद से मुलाकात की और मांग की कि संबंधित पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

दो जूनियर अधिकारियों सहित पांच पुलिसकर्मी निलंबित
मलिक के साथ संजय तटकरे और क्लाइड क्रैस्टो सहित पार्टी के अन्य प्रवक्ता भी थे। पिछले रविवार को एक मामले में पूछताछ के लिए वडाला ट्रक टर्मिनस पुलिस स्टेशन में हिरासत में लेने के बाद एक दवा फर्म में मेडिकल प्रतिनिधि के रूप में काम करने वाले सायन इलाके के निवासी विजय सिंह की मौत हो गई। मौत के सिलसिले में दो जूनियर अधिकारियों सहित पांच पुलिसकर्मियों को मंगलवार को निलंबित कर दिया गया था।

नवाब मलिक ने आयोग को बताया, "मामले की विस्तृत जांच की जानी चाहिए। उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए जो सिंह की हिरासत में मौत के लिए जिम्मेदार हैं।" महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री ने आरोप लगाया कि हिरासत में रहते हुए पुलिस द्वारा पीटे जाने के बाद सिंह को चिकित्सा देने में भी देरी हुई।

मलिक ने कहा, "पैनल ने इस घटना का भी संज्ञान लिया। हमारी शिकायत आयोग की शिकायत में विलय कर दी जाएगी। हमारे वकील 14 नवंबर को पेश होंगे, जब इस मामले की सुनवाई होनी है।"

यह भी पढ़े- पुलिस पर हुए हमला के पीछे बीजेपी नेताओं का हाथ- नवाब मलिक

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें