आखिर क्यों मिलिंद देवड़ा ने आज तक एक भी ट्वीट राफेल के खिलाफ नहीं किया- संजय निरुपम

संजय निरुपम एक न्यूज़ चैनल द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे थे। वहीँ पर उन्होंने कई सारे मुद्दों पर बात की।

SHARE


कांग्रेस के बागी नेता और पूर्व मुंबई काग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम ने मिलिंद देवड़ा के खिलाफ बोलते हुए कहा कि देवड़ा और अनिल अंबानी दोनों पार्टनर हैं। राफेल के खिलाफ देवड़ा ने आज तक कुछ नहीं बोला है। आपको बता दें कि संजय निरुपम एक न्यूज़ चैनल द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे थे। वहीँ पर उन्होंने कई सारे मुद्दों पर बात की।

'मिलिंद देवड़ा को बनाया गया मोहरा'
कथित रूप से रफाल घोटाले को लेकर मैं अनिल अंबानी के खिलाफ आंदोलन करता था तो मेरे खिलाफ साजिश रची गयी। बीजेपी के साथ मिल कर अनिल अंबानी ने एक प्लान बनाया, और मोहरा बनाया मिलिंद देवड़ा को। मिलिंद देवड़ा और अनिल अंबानी दोनों पार्टनर हैं। मिलिंद देवड़ा ने आज तक एक भी ट्वीट राफेल के खिलाफ नहीं किया है। मेरे साथ साथ पार्टी का भी नुकसान किया गया।

अपना दुःख बताते हुए निरुपम ने कहा कि, वे पार्टी वर्कर के तौर पर अच्छा काम कर रहे थे लेकिन उन्हें सबसे अधिक दुःख उस समय हुआ जब अचानक लोकसभा चुनाव से 20 दिन पहले ही पद से हटा दिया गया। हालाँकि उन्होंने आगे कहा कि उस समय वे चुनाव को देखते हुए चुप रहे। उन्होंने आगे कहा कि उन्होंने मात्र एक सीट की मांग की थी लेकिन उनकी बात नहीं मानी गयी।

'बिल्डर है तो क्या हुआ'
एक बिल्डर के लिए टिकट मांगने के सवाल पर उन्होंने कहा कि अमिन पटेल, बाबा सिद्दीकी के बेटे जीशान. कौन नहीं है बिल्डर, यहां तक कि बीजेपी ने एक मिनिस्टर का टिकट काट कर एक 500 करोड़ रुपए के मालिक बिल्डर को टिकट दिया। किसी के बिजनस से किसी का चरित्र नहीं आँकना नहीं चाहिए।

'तो पार्टी नहीं छोडूंगा'
पार्टी छोड़ने को लेकर निरुपम ने कह कि, मैंने पहले भी कहा था कि पार्टी छोड़ने का ऑप्शन पहले भी खुला रहता था लेकिन मुझे कांग्रेस नहीं छोड़ना है यह मेरा फैसला है। लेकिन इसका मतलब यह भी नहीं कि जो कुछ भी हो रहा है उसे दखता रहूँ। उसके ऊपर बोलने का समय आ गया है तो उसे बोलना पड़ेगा। यह पिछले कुछ महीने से हो रहा था जो अब फूटा  है, लेकिन अगर पार्टी बात करके सब कुछ सही कर देती है तो मैं पार्टी नहीं छोडूंगा।

उन्होंने यह भी दावा किया कि, उन्हें एनसीपी सुप्रीमों शरद पवार का भी फोन आया और उन्होंने मैसेज देते हुए कहा था कि पार्टी छोड़ने से पहले वे उनसे बात कर लें।

आपको बता दें कि अभी एक दिन पहले ही निरुपम ने ट्वीट करते हुए कहा था कि 'निकम्मा' राहुल गांधी की रैली में क्यों गैर हाजिर था। संजय निरुपम ने पिछले हफ्ते मुंबई में हुई राहुल गांधी की रैली में अपनी गैर हाजिरी पर सवाल उठाने वाले कांग्रेस नेताओं को जवाब देते हुए अपने ट्वीट में यह बात कही है। लोगों का कहना था कि 'निकम्मा' मिलिंद देवड़ा के लिए यूज किया गया था।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें