Advertisement

60% मुंबईवासी मुंबई छोड़ने को तैयार!

प्रिस्टिन केयर ने मुंबई और दिल्ली और उसके आसपास रहने वाले 4000 लोगों का एक सर्वेक्षण किया

60% मुंबईवासी मुंबई छोड़ने को तैयार!
SHARES

स्वास्थ्य सेवा प्रदाता प्रिस्टिन केयर (Pristyn Care ) ने मुंबई (Mumbai) और दिल्ली ( delhi) और उसके आसपास रहने वाले 4000 लोगों का एक सर्वेक्षण (survey)  किया। निष्कर्षों से पता चलता है कि दोनों शहरों के 60 प्रतिशत लोग स्थानांतरित होना चाहते हैं क्योंकि प्रदूषण (air pollution)  बहुत अधिक है और दोनों शहरों में हवा की गुणवत्ता दिन-ब-दिन खराब होती जा रही है। (60% Mumbaikars Willing To Leave Mumbai Due To Air Pollution)

इसके अतिरिक्त दस में से नौ उत्तरदाताओं ने वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) में गिरावट के सबसे प्रचलित लक्षणों की सूचना दी, जिसमें गले में खराश, पानी या खुजली वाली आंखें, लगातार खांसी, सांस की तकलीफ और घरघराहट शामिल हैं। सर्वेक्षण से पता चला कि मुंबई और दिल्ली में हर दस में से छह निवासी खराब वायु गुणवत्ता और प्रदूषण के कारण स्थानांतरित होने पर विचार कर सकते हैं। (Mumbai civic news) 

परिणामों ने यह भी प्रदर्शित किया कि बिगड़ती वायु गुणवत्ता का लोगों के स्वास्थ्य पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है। विशेषकर सर्दियों में हवा की गुणवत्ता पर गंभीर प्रभाव पड़ता है। सर्वेक्षण के अनुसार, चालीस प्रतिशत प्रतिभागियों ने बताया कि सर्दी का मौसम शुरू होने के बाद से उन्होंने अपने परिवार के सदस्यों में अस्थमा या ब्रोंकाइटिस जैसी पहले से मौजूद श्वसन स्थितियों में गिरावट देखी है।

अध्ययन के अनुसार, मुंबई और दिल्ली में 10 में से चार निवासी हर साल या कम से कम हर कुछ वर्षों में वायु प्रदूषण से संबंधित स्वास्थ्य समस्याओं के लिए चिकित्सा की तलाश करते हैं। जब उनसे पूछा गया कि वायु प्रदूषण से निपटने के लिए उन्होंने अपनी जीवनशैली कैसे बदली है, तो 35 प्रतिशत ने कहा कि उन्होंने जॉगिंग और दौड़ जैसी बाहरी गतिविधियाँ करना बंद कर दिया है, जबकि 30 प्रतिशत ने बाहर मास्क पहनना शुरू कर दिया है।

एयर प्यूरिफायर के संदर्भ में सर्वेक्षण में कहा गया है कि दिल्ली और मुंबई में केवल 27 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने उनका उपयोग करने की बात स्वीकार की।

यह भी पढ़े-  ठाणे- एक दिसंबर को पानी की सप्लाई नही

Read this story in English
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें