दादर का तिलक ब्रिज गुजर रहा बुरे दौर से

Dadar
दादर का तिलक ब्रिज गुजर रहा बुरे दौर से
दादर का तिलक ब्रिज गुजर रहा बुरे दौर से
दादर का तिलक ब्रिज गुजर रहा बुरे दौर से
दादर का तिलक ब्रिज गुजर रहा बुरे दौर से
दादर का तिलक ब्रिज गुजर रहा बुरे दौर से
See all
मुंबई  -  

मुंबई में अभी भी कई ऐसे ब्रिज हैं जो काफी पुराने हैं जो अंग्रेजों द्वारा बनवाए गये हैं। लेकिन इनका रख रखाव करने के लिए सरकार की तरफ से कोई भी कदम नहीं उठाये गए हैं। दादर ईस्ट और वेस्ट के बीच में बना तिलक ब्रिज भी दुर्दशा का शिकार हुआ है। यह ब्रिज भी काफी पुराना है। इसके नीचे लगे पत्थर अब धीरे धीरे निकलते जा रहे हैं।

हालांकि मनपा की तरफ से ब्रिज के मरम्मत का कार्य किया गया लेकिन वो काफी नहीं हैं। मानसून में स्थिति और भी बिगड़ सकती है।
यहाँ के स्थानीय निवासी विवेक भगत ने जी/साउथ मनपा में इसकी शिकायत भी की लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। यहाँ के काफी पुराने निवासी किशोर पिसे की दूकान है और टेलरिंग का काम करते हैं, उनका कहना है कि उनकी दूकान के पीछे कचरे का ढेर लगा रहता है लेकिन कचरा कोई उठाता नहीं है। यहां मुंबई की सबसे बड़ी सब्जी मंडी भी लगती है।

इस बार में जब पालिका के सहायक आयुक्त रमाकांत बिरादर से मुंबई लाइव के संवाददाता ने उनका पक्ष जानना चाह तो उन्होंने टका सा जवाब देते हए कहा कि मुंबई के सारे ब्रिज का कार्य वर्ली स्थित कार्यालय में किया जाता है वहां चीफ इंजिनियर हैं आप उनसे जाकर जानकारी लो।

वर्ली के ऑफिस में जब मुंबई लाइव के संवाददाता गये तो वहां शीतला प्रसाद ओरिराम कोरी मिले जो सम्बंधित विभाग का कामकाज देखते हैं। उन्होंने कहा कि मनपा और रेलवे दोनों विभाग का काम देखते है। उन्होंने आगे कहा कि मनपा द्वारा सेन्ट्रल रेलवे ब्रिज के मरम्मत के लिए 2 करोड़ का फंड पास किया है, और जहाँ पत्थर निकल गया है उसे जल्द ही बना दिया जायेगा। उन्होंने जल्द ही इस पुराने ब्रिज का नवीनीकरण होने की भी बात कही।

Loading Comments

संबंधित ख़बरें

© 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.