youtube में आपत्तिजनक कंटेंट की जानकारी देने में भारतीय सबसे आगे

भारत के बाद अमेरिका, ब्राजील, इंडोनेशिया, मेक्सिको का नंबर था।

  • youtube में आपत्तिजनक कंटेंट की जानकारी देने में भारतीय सबसे आगे
  • youtube में आपत्तिजनक कंटेंट की जानकारी देने में भारतीय सबसे आगे
  • youtube में आपत्तिजनक कंटेंट की जानकारी देने में भारतीय सबसे आगे
  • youtube में आपत्तिजनक कंटेंट की जानकारी देने में भारतीय सबसे आगे
SHARE

YouTube की सामुदायिक दिशानिर्देश प्रवर्तक रिपोर्ट के अनुसार YouTube पर संदिग्ध रूप से सामुदायिक दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने वाली अनुचित या अनुपयुक्त सामग्री की जानकारी देने में भारत सबसे आगे हैं। भारत इस सूची में अमेरिका, ब्रिटेन, ब्राजील और रूस से आगे है। 


रिपोर्ट कहती है कि अप्रैल-जून, 2019 के दौरान वैश्विक स्तर पर प्रयोगकर्ताओं ने 1.08 करोड़ अनुपयुक्त वीडियो के बारे में जानकारी दी। इस सूची में भारत सबसे ऊपर रहा। उसके बाद अमेरिका, ब्राजील, इंडोनेशिया, मेक्सिको का नंबर था। यूट्यूब ने कहा कि उसने नफरत फैलाने वाले एक लाख से अधिक वीडियो हटाए हैं।


यह सूची प्रत्येक देश द्वारा अलग-अलग से अनुपयुक्त सामग्री के बारे में दी गई जानकारी के आधार पर बनाई गई है। हालांकि, इस बारे में विभिन्न देशों का अलग-अलग आंकड़ा नहीं दिया गया है। पिछले संस्करण जनवरी-मार्च, 2019 में भी भारत इस सूची में सबसे आगे था। 


प्रयोगकर्ता कई कारणों मसलन स्पैम, हिंसा, नफरत फैलाने वाली सामग्री या लैंगिक रूप से अनुपयुक्त सामग्री के बारे में जानकारी देते हैं। इस बारे में यूट्यूब कहना है कि उसने अकेले नफरत फैलाने वाले एक लाख से अधिक वीडियो हटाए हैं। इसी वजह से 17,000 से अधिक चैनलों को बंद किया गया है। दूसरी तिमाही में कुल मिलाकर 50 करोड़ से अधिक टिप्पणियां हटाई गई हैं।


आपको बता दें कि भारत में बड़े पैमाने पर सोशल मीडिया के जरिये आपत्तिजनक कंटेंट फैलाये जाते हैं। इन कंटेंट से कई बार हिंसा भी होती है। अभी भी कई इलाकों में बच्चा चोर के नाम पर भीड़ द्वारा लोगों को पीट कर जान से मारने का मामला आता रहता है।  

संबंधित विषय