Whatsapp में इंस्टॉल हुआ जासूसी सॉफ्टवेयर, कंपनी ने दी जानकारी

Whatsapp ने अपने युजर्स के एप को अपडेट करने के लिए कहा है

SHARE

फ़ेसबुक ने इस बात को माना है की उसकी इंस्टैंट मेसेजिंग ऐप व्हाट्सएप में एक सुरक्षा चूक की वजह से लोगों के मोबाइल फ़ोन में जासूसी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल हो गया है। ब्रिटेन के अख़बार फ़ाइनेंशियल टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ ये सॉफ्टवेयर एक इसराइली कंपनी ने विकसित किया है। 

WhatsApp के मालिकाना हक वाली कंपनी फेसबुक ने  अपने यूजर्स के लिए एक अलर्ट जारी किया और कहा है कि वो तुरंत अपनी मोबाइल मैसेजिंग ऐप को अपडेट कर लें। रिपोर्ट के मुताबिक़, यदि कोई यूज़र कॉल का जबाव नहीं देता है तब भी उसके फ़ोन में ये सॉफ्टवेयर इंस्टॉल किया जा सकता है। यह स्पायवेयर इजरायली सायबर इंटेलीजेंस कंपनी एनएसओ द्वारा तैयार किया गया है और व्हाट्सएप में सुरक्षा खामी के चलते डाउनलोड हो रहा है। 

इस स्पायवेयर की मदद से अटैकर्स यूजर को कॉल कर उसके फोन में पहुंचा रहे हैं और फिर उसके फोन की जासूसी कर रहे हैं। इसकी सबसे खास बात ये है की यूजर को इसकी खबर इसलिए भी नहीं लगती क्योंकि उसे आने वाली कॉल्स की हिस्ट्री मिटा देता है। फ़ेसबुक के इंजीनियर इस सुरक्षा चूक को ठीक करने में रविवार तक जुटे थे। 

कैसे बचे इस जासूसी सॉफ्टवेयर से

WhatsApp के नए वर्ज़न को अपडेट कर लें

नए वर्ज़न को गूगल प्ले-स्टोर पर जाकर अपडेट किया जा सकता है


यह भी पढ़े- अंतरराष्ट्रीय तनाव के कारण बढ़ सकते है पेट्रोल के दाम

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें