म्यूजिकल नाटक की तरह पेश होगी 'उमराव जान'

पहली बार 'उमराव जान' कि जिंदगी को किसी म्यूजिकल नाटक के रुप में प्रस्तुत किया जाएगा। इसको राजीव गोस्वामी ने डायरेक्ट किया है और ग्रेवटी जीरो एंटरटेनमेंट ने प्रोड्यूस किया है। इसके लाइव म्यूजिक का जिम्मा सलीम-सुलेमान ने उठाया है।

SHARE

'उमराव जान' किसी भी इंट्रोडक्शन की मोहताज नहीं है। भारती इतिहास की इस एपिक संरचना पर बॉलीवुड की दो फिल्में बन चुकी हैं। अपने जमाने की मशहूर अदाकार रेखा ने 1981 में रिलीज हुई फिल्म 'उमराव जान' में उमराव जान नाम की महिला का किरदार निभाया था। फिर 2016 में जेपी दत्ता ने इसी पर दूसरी फिल्म बनाई और ऐश्वर्या राय ने उमराव जान का किरदार निभाया।

यह पहली बार होगा जब 'उमराव जान' कि जिंदगी को किसी म्यूजिकल नाटक के रुप में प्रस्तुत किया जाएगा। इसका प्रीमियर 21 जुसाई 2019 को होगा। इसको राजीव गोस्वामी ने डायरेक्ट किया है व ग्रेवटी जीरो एंटरटेनमेंट ने प्रोड्यूस किया है। इसके लाइव म्यूजिक का जिम्मा सलीम-सुलेमान ने उठाया है। वहीं लिरिक्स इरफान सिद्दीकी के रहेंगे।

दिल्ली में 'उमराव जान' के तीन शो मई और जून के बीच में होंगे। यह म्यूजिकल नाटक 'उमराव जान' के नोवल पर आधारित है। जिसे उर्दू के महान लेखक मिर्जा हदी रुसवा ने लिखा है। नवाब सुल्तान, गुलजार मिर्जा और खानुम जान भी इस म्यूजिकल में अहम रोल अदा करेंगे। 

इस पर सलीम सुलेमान ने कहा, यह भारत में पहली बार है कि लाइव संगीत और गायन के साथ एक म्यूजिकल थिएटर प्रदर्शन हो रहा है जो भारतीय थिएटर प्रोडक्शन अंतरराष्ट्रीय मानकों पर ले जाएगा। इस नोवल को संगीतमय बनाना एक सपना है, 19 वीं शताब्दी की शुरुआत में हमारे दर्शकों को वापस ले जाने के लिए बहुत कम प्रयास किए गए हैं। यह ग़ज़ल और ठुमरी की आवाज़ को मंच पर जीवंत करेगा, जो एक बड़ी खुशी की बात है।

वहीं डायरेक्टर राजीव गोस्वामी  ने कहा, एक डायरेक्केटर रूप में, मैं  ज्यादा कुछ नहीं कह सकता , पर 19वीं शताब्दी की कहानी को वापस लाना आसान नहीं था और यह दर्शकों को आश्वस्त कर रहा था जिनके पास आज अपनी उंगलियों की नोक पर दुनिया है। इसके अलावा, हमने पुस्तक को अनुकूलित किया। इसलिए इसे तोड़कर न केवल अभिनय बल्कि लाइव सिंगिंग और लाइव म्यूजिक को मैनेज करने वाले दृश्यों को तोड़ दिया। मैंने इस चुनौती को दिल से प्यार किया। 

उमराव जान एक शिष्ट, प्रेम और संघर्ष की कहानी है जो पारंपरिक ग़ज़ल, ठुमरी और कव्वालियों के साथ संस्कृति और अपारदर्शिता में डूबी हुई है। यह एक ऐसी कृति है जिसे आपने पहले कभी अनुभव नहीं किया है।इसमें आपको लखनऊ का कल्चर साफ देखने को मिलेगा। आप इसकी टिकट Insider इनसाइडर और Paytm के जरिए बुक कर सकते हैं। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें

YouTube वीडियो