Advertisement

पालघर में रेल रोको आंदोलन, संशोधित समय को ही लागू करेगी पश्चिम रेलवे

बुधवार को पालघर रेलवे स्टेशन (palghar railway station) पर तड़के करीब 5 बजे आसपास ही यात्रियों ने संशोधित समय को लेकर हंगामा किया था।

पालघर में रेल रोको आंदोलन, संशोधित समय को ही लागू करेगी पश्चिम रेलवे
SHARES

पश्चिम रेलवे (western railway) सुबह के समय चलने वाली एक लोकल ट्रेन के समय में बदलाव किये जाने के विरोध में यात्रियों ने पालघर के रेलवे स्टेशनों पर 'रेल रोको' आंदोलन करते हुए रेल की पटरियों पर उतर आए थे।

यात्रीयों द्वारा विरोध करने के बावजूद पश्चिम रेलवे ने डहाणू से चर्चगेट (dahanu to churchgate) के लिए सुबह की ट्रेन के संशोधित समय को ही जारी रखने का फैसला किया है।

बुधवार को पालघर रेलवे स्टेशन (palghar railway station) पर तड़के करीब 5 बजे आसपास सुबह चलने वाली एक लोकल ट्रेन के समय में बदलाव किये जाने के विरोध में पालघर जिले में कुछ स्टेशनों पर यात्री रेल की पटरियों पर बैठ गए।  करीब आधे घंटे तक हुए इस आंदोलन की तस्वीर सोशल मीडिया (social media) में वायरल हो गईं, जिसके बाद केलवे रोड (kelve road) और सफ़ाले (safale) रेलवे स्टेशन पर भी यात्रियों ने विरोध शुरू कर दिया। इस रेल रोको आंदोलन से करीब आधे घंटे तक  रेल सेवा बाधित रही।

ट्रेनों के समय में जो बदलाव किए गए हैं, उसके मुताबिक पश्चिम रेलवे की चर्चगेट-बाउंड लोकल जो 4:40 बजे छूटती थी, अब बुधवार 3 दिसंबर को सुबह 5:40 बजे रवाना होगी। जबकि डहाणू-विरार ट्रेन (dahanu-virar train) सुबह 5:40 बजे के बजाय अब 7:34 बजे रवाना होगी। हालांकि, विरार-डहाणू और चर्चगेट-डहाणू ट्रेनें क्रमशः सुबह 5 बजे और 9:10 बजे रवाना होंगी।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने कहा कि, रेलवे ने विशेष ट्रेन सेवा का समय बदलकर वह कर दिया था जो कोविड-19 लॉकडाउन (Lockdown) से पहले था।

उन्होंने आगे कहा, 'हम यात्रियों की मांग की समीक्षा कर रहे हैं, लेकिन हम केवल दहानू लोकल को उसके मूल समय से चला रहे हैं और हमने समय में कोई बदलाव नहीं किया है।'

अब आंदोलनकारियों के खिलाफ रेलवे द्वारा कार्रवाई की जा रही है। इस बाबत एक अधिकारी ने बताया, पालघर जीआरपी ने रेलवे अधिनियम के तहत अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 142, 143, 149 (गैरकानूनी विधानसभा), आपदा प्रबंधन अधिनियम और राज्य कोविड -19 एक्ट के तहत और धारा 174 (ट्रेन चलाने में बाधा) के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।  

इस बीच, बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) के अधिकारियों ने कहा था कि, वे मामलों की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं और तदनुसार, सभी यात्रियों के लिए उपनगरीय सेवाओं को फिर से शुरू करने पर निर्णय दिसंबर के मध्य तक लिया जाएगा।

Read this story in English
संबंधित विषय
Advertisement