9 जुलाई को रिक्शा चालको की हड़ताल

अपनी अलग अलग मांगो के लेकर रिक्शा चालको ने हड़ताल करने का फैसला लिया है

SHARE

मुंबई और ठाणे में  रिक्शा चालक-मालिकों संगठनों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल का आह्वान किया है। अपनी अलग अलग मांगो को लेकर रिक्शा चालकों ने 9 जुलाई को हड़लात करने का ऐलान किया है।  ऑटोरिक्शा चालक-मालिक संघटना संयुक्त कृती समिति की इस बारे में मुंबई में एक बैठक हुई।  समिति की ओर से सरकार से इस बात भी निवेदन किया जाएगा 30 जून तक उनकी मांगो को माना जाए नही तो 9 जुलाई को रिक्शा चालक हड़ताल पर जाएंगे।  


मंडल की स्थापना
राज्य सरकार ने ऑटोरिक्शा चालकों के लिए एक कल्याण बोर्ड की स्थापना की है। एक्शन कमेटी ने मांग की है कि ड्राइवरों को पेंशन, अनुदान, भविष्य की फंडिंग और चिकित्सा सहायता दी जाए। इसके साथ ही उनकी मांग है की बीमा कंपनियों को दिये जाने वाले पैसे  कल्याणकारी महामंडल को दी जाए।  


7 हजार करोड़ रुपए
बीमा कंपनी को दी जानेवाली रकम सालभर में लगभग 7000 करोड़ आती है।   यदि वेलफेयर बोर्ड में राशि भर दी जाती है, तो रिक्शा चालक के कल्याण के लिए उपयोग किया जाएगा। समिति के अध्यक्ष शशांक राव ने कहा कि अभी फैसला नहीं हुआ है। इसके अलावा, पिछले साढ़े तीन साल में रिक्शा चालकों  के लिए भाड़े में किसी भी तरह की कोई भी बढ़ोत्तरी नहीं की गई है।  संगठन की मांग की रिक्शा के भाड़े में 4 से 6 रुपये की बढ़ोत्तरी की जाए।  



संबंधित विषय
ताजा ख़बरें