टैक्सी चालको ने की किराया बढ़ोत्तरी की मांग

परिवहन विभाग , टैक्सी संगठना और मुंबई ग्राहक पंचायत की बैठक गुरुवार को हुई।

SHARE

मुंबई में टैक्सी में प्रवास करनेवालों को आनेवाले समय में और भी ज्यादा पैसे देने हो सकते है।  टैक्सी संगठनाओं ने टैक्सी किराएं में 25 रुपये बढ़ोत्तरी की मांग की है। परिवहन विभाग , टैक्सी संगठना और मुंबई ग्राहक पंचायत की बैठक गुरुवार को हुई।  इस बैठक में ये मांग की गई।  आनेवाले मंगलवार को फिर से एक बार इस मुद्दे के लिए बैठक की जाएगी। 

सीएनजी की कीमत में वृद्धि
परिवहन सचिव आशीष सिंह, परिवहन आयुक्त शेखर चन्ने, मुंबई टैक्सी यूनियन, महासचिव ए एल. क्वाड्रोस, मुंबई उपभोक्ता पंचायत अध्यक्ष शिरीष देशपांडे इस  बैठक में उपस्थित थे।  अगस्त 2017 से अब तक सीएनजी दरों में  5 बार बढ़ोत्तरी की गई है।  मुंबई टैक्सी यूनियन ने बढ़ोतरी के लिए 30 रुपये की मांग की। 

इसके अलावा, बैठक में किराए के मूल्यांकन के लिए 2017 में नियुक्त खटुआ समिति की सिफारिशों पर चर्चा की गई। उस समय, टैक्सी संगठन ने प्रति किराया 30 रुपये के बजाय 25 रुपये बढ़ाने की मांग की थी।

अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी
इस बैठक में, परिवहन विभाग ने किराया वृद्धि पर चर्चा के लिए केवल टैक्सी संगठनों को आमंत्रित किया। हालांकि, ऑटो रिक्शा चालक-मालिक संघ के संयुक्त समिति के अध्यक्ष शशांक राव ने बताया कि रिक्शा चालकों को अभी तक इस बैठक में नहीं बुलाया गया है। रिक्शा चालको का कहना है की अगर उनके किराएं में   4 से 6 रुपये तक की बढ़ोत्तरी नहीं की गई तो रिक्शा चालक-मालिकों के संघ ने 9 जुलाई से अनिश्चितकालीन हड़ताल की बात कही है। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें