Advertisement

पटरी पर पानी भरने के कारण मध्य रेलवे की मेन और हार्बर लाइन हुई ठप्प

बुधवार को हुई बारिश के कारण मध्य रेलवे के मुख्य मार्ग और हार्बर मार्ग की पटरियों पर पानी भर जाने के कारण आवागमन को बंद कर दिया गया।

पटरी पर पानी भरने के कारण मध्य रेलवे की मेन और हार्बर लाइन हुई ठप्प
SHARES


पिछले 3 दिनों से मुंबई में हो रही लगातार बारिश (heavy rain in mumbai) से आम लोगों का जीवन हलकान हो गया है। अब बारिश का असर रेल यातायात पर भी पड़ा है, हालांकि कोरोना (Covid-19) के कारण लगे लॉकडाउन (lockdown) में आम लोगों को लोकल ट्रेन से यात्रा करने की इजाजत नहीं दी गई है लेकिन अति आवश्यक कार्य में लगे लोग यात्रा कर सकते हैं। बुधवार को हुई बारिश के कारण मध्य रेलवे के मुख्य मार्ग और हार्बर मार्ग की पटरियों पर पानी भर जाने के कारण आवागमन को बंद कर दिया गया।

मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी शिवाजी सुतार ने कहा कि, मध्य रेलवे (Central railway) ने भारी बारिश और पटरियों पट पानी जमा होने के कारण, मध्य रेलवे की मुख्य लाइन पर छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (CSMT) से कुर्ला (kurla) और  हार्बर लाइन (harbour line) पर छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (CSMT) से लेकर वाशी (vashi) तक यातायात को अगले सूचना के लिए बंद कर दिया गया है,

गौरतलब है कि, वर्तमान में रेलवे ने केवल विशेष कार्यों जैसे अति आवश्यक कार्य मे लगे कर्मियों के लिए ही सेवा शुरू की है। 

गनीमत यह है कि, कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण आम लोगों को अभी ट्रेनों में यात्रा नहीं देने की अनुमति नहीं दी गई है साथ ही ऑफिस भी नहीं खुलने के कारण अभी लोग अपने घरों में ही हैं। इसलिए इस ट्रेन बंदी का अधिक प्रभाव लोगों पर नही पड़ा है।

मुंबई और उपनगरों में पिछले 3 दिनों से मूसलाधार बारिश हो रही है। जबकि जून और जुलाई में ज्यादा बारिश नहीं हुई।  हालांकि, अगस्त की शुरुआत से बारिश तेज हो गई है। अगस्त के पहले पांच दिनों में जितनी बारिश हुई यह पूरे महीने में लगभग औसतन 61 प्रतिशत बारिश हुई है। 

अमूमन अगस्त महीने में लगभग 585.2 मिमी औसत मासिक वर्षा दर्ज की जाती है, लेकिन इन 5 दिनों में स्काइमेट ने अब तक 357 मिमी बारिश दर्ज कर चुकी है।

पिछले 24 घंटों में कोंकण और गोवा में भारी बारिश हुई।  दहानू और महाबलेश्वर में क्रमशः 383 मिमी और 321 मिमी वर्षा हुई।  स्काइमेट के अनुसार, पिछले 24 घंटों में सांता क्रूज़ में 84 मिमी और कोलाबा में 53 मिमी बारिश हुई।

 स्काइमेट (skymet) के विशेषज्ञों ने कहा कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र और दक्षिण गुजरात में चक्रवात बनने से मूसलाधार बारिश हुई।  कोंकण और गोवा और आसपास के पश्चिमी तट वर्तमान में भारी बारिश का सामना कर रहे हैं।  मुंबई में आज रात तक मध्यम से भारी बारिश होगी।  उसके बाद, तीव्रता कम हो जाएगी और बारिश गुजरात की ओर बढ़ जाएगी।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय