रेलवे पटरियों को ट्रैश डंपिंग को कम करने के लिए मध्य रेलवे ने मस्जिद बंदर स्टेशन पर लगाया जाल

मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुनील उदासी ने बताया कि जाल एक महीने के लिए एक प्रयोग के रूप में रखा जाएगा

SHARE

मस्जिद बंदर और छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसटीएम) के बीच कचरों को कम करने के लिए मध्य रेलवे मस्जिद बंद से सीएसएमटी रेलवे स्टेशन के बीत 1.5 किमी के स्ट्रेच पर जाली बिछाया गया है। चीफ पब्लिक रिलेशंस ऑफिसर सुनील उदासी ने बताया कि जाल को एक महीने के प्रयोग के रूप में लगाया गया है।

इमारतों और झोपड़पट्टियों से आते है कचरे

रेलवे का कहना है की एक महीने में रेलवे देखना चाहती है की क्या वाकई में जाल लगाने से कचरों की संख्या में कमी आती है। दरअसल रेलवे लाइन पर लगी दिवारों के पास बने इमारतों में रहनेवाले लोग रेचले पटरियों पर कचरा फेंकते है , इन्ही कचरों को रोकने के लिए रेलवे ने इन जाली को लगाने का फैसला लिया है।

पिछले साल नवंबर से, सीआर ने सीएसएमटी और सैडर्स्ट रोड स्टेशन के बीच रेलवे ट्रैक से लगभग 150,000 क्यूबिक मीटर (एम 3) कचरे को सफलतापूर्वक हटा दिया है उन्होंने कहा कि यदि परियोजना सफल हो जाती है, तो परियोजना सीआर द्वारा अपनी लाइन के साथ पहचाने गए 26 सटे हुए इलाको में लागू की जाएगी।


यह भी पढ़े- मुंबई से वापी अब जाइये हेलीकॉप्टर से, किराया 21 हजार रूपये

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें