मानसून से निपटने के लिए वाटरप्रूफ' लोकोमोटिव इंजन शुरु करेगा मध्य रेलवे

वाटरप्रूफ' लोकोमोटिव इंजन 12 इंच पानी में भी सक्षम होगा

SHARE

मॉनसून से होनेवाली तकलीफों को देखते हुए मध्य रेलवे ने अब वाटरप्रूफ' लोकोमोटिव इंजन शुरु करने का फैसला लिया है। ये इंजिन 12 इंच पानी में चलने पर भी सक्षम होगा। फिलहाल मौजूद समय में जो वाटरप्रूफ' लोकोमोटिव इंजन है वह सिर्फ 4 इंज के पानी तक ही चल सकता है।

यह भी पढ़े- मुंबईकरो को राहत, भारी बारिश की चेतावनी वापस!


रेलवे अधिकारी का कहना है की पटरियों पर पानी भरने के कारण कई बार रेल को चलाना काफी तकलीफ भरा साबित होता है। जब स्तर 4 इंच से अधिक हो जाता है, तो इंजन इंजन के नीचे ट्रैक्शन मोटर्स में प्रवेश करता है। इससे इंजन में समस्या हो जाती है। हालांकी इन नए इंजन में ऐसे सेंसर भी हैं जो लगातार मोटर तापमान में बढ़ोतरी की निगरानी करेंगे।

यह भी पढ़े- मुंबई-हावड़ा मेल के तीन डिब्बे पटरी से उतरें, कई ट्रेन डायवर्ट

अधिकारियों के अनुसार, इंजन का परीक्षण रन पूरा हो गया है और वर्तमान में, यह कुर्ला लोकोमोटिव शेड में स्थित है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें