मोनोरेल को बिजली उपलब्ध कराने वाले यंत्र में आई तकनीकी खराबी


SHARE

मोनो रेल में यात्रा करने वाले लोगों के लिए एक महत्वपूर्व खबर है। मोनो रेल डीसी करंट (बिजली) उपलब्ध करने वाले यंत्र में तकनीकी खराबी आई है। इसीलिए MMRDA ने कुछ समय तक मोनो रेल के संचालन को बंद करने का निर्णय लिया है। बताया जाता है कि यह तकनीकी खराबी लगातार हो रही भारी बारिश के कारण हुआ है। वैसे तो इस यह यंत्र मोनो रेल को लगभग 30 से 40 दिन तक डीसी करंट उपलब्ध करा सकता था लेकिन तकनीकी खराबी के कारण अब इसकी क्षमता घट कर मात्र 10 से 15 दिन तक रह गयी है।

ठीक होने में लगेगा एक महिना 
आपको बता दें कि मोनो रेल डीसी करंट पर दौड़ती है। मोनो रेल कि बिजली उपलब्ध कराने का ठेका इंग्लैंड की एक कंपनी 'फेवेली ब्रेकनेल विलिस' को दिया गया है। अब इस तकनीकी खराबी को दूर करने के लिए कम से कम एक महिला लगेगा, यानी यह काम सितंबर महीने में पूरा हो सकता है। तक तब मोनो रेल के यात्री को परेशानी का समाना करना पड़ सकता है।

चलेंगी 17 ट्रेनें
यात्रियों की सेवा में इस समय मोनो रेल 5 ट्रेन चला रही है, साथ ही सितंबर महीने तक भी 2 ट्रेनें चलाई जा सकती हैं। यही नहीं MMRDA और 10 ट्रेनें चलाने के लिए टेंडर भी निकाल चुका है। यात्रियों की सेवा में 2021 तक कुल 17 ट्रेनें उपलब्ध हो सकती हैं। अगर यह 17 ट्रेनें बिना किसी रुकावट के चलने लगेंगी तो यात्रियों को इस समय ट्रेन के लिए 20 मिनट तक का इंतजार करने की बजाय मात्र 6 मिनट का ही इंतजार करना पड़ेगा।

संबंधित विषय