एसी लोकल हिट या फ्लॉप? समझना जरूरी!

Mumbai
एसी लोकल हिट या फ्लॉप? समझना जरूरी!
एसी लोकल हिट या फ्लॉप? समझना जरूरी!
एसी लोकल हिट या फ्लॉप? समझना जरूरी!
एसी लोकल हिट या फ्लॉप? समझना जरूरी!
एसी लोकल हिट या फ्लॉप? समझना जरूरी!
See all
मुंबई  -  

वेस्टर्न रेलवे की पटरियों पर एसी लोकल का ट्रायल जारी है। यह सितंबर से यात्रियों की सेवा में हाजिर हो जाएगी। निश्चित रूप से यह खबर लोगों को गर्मी में ठंड का ऐहसास देने वाली है। क्योंकि अक्टूबर महीने की उमस से यह लोकल एसी यात्रियों को बचा सकती है। पर हम आपको बता दें कि इसकी राह इतनी आसान नहीं है।


लोकल की गर्दी

A- ये अंकल थोड़ा आगे बढ़ो ना, B- तेरे सर पे बैठूं क्या? इसके बाद क्या होता है आप समझदार हैं। यह घटना हर दिन, हर घंटे और हर लोकल ट्रेन के कोच में घटती है। खासकर प्राइम टाइम (सुबह 8-11 बजे और शाम 6-9 बजे) में तो ट्रेन ऐसे भरती है कि सांस लेना भी मुश्किल है। कई लोगों को तो चक्कर भी आ जाता है। जिसे इस हालात में सीट मिलती है, वह खुद को किसी महाराजा से कम नहीं समझता। गेट पर लटक कर यात्रा ना करें रेलवे अनाउन्स करता रहता है, पर जिस गेट में 2 लोगों के खड़े होने की जगह होती है, वहां 4-5 लोग लटकते हैं।


एसी बस फ्लॉप

मुंबई की लाइफ लाइन लोकल ट्रेन और बेस्ट बस सर्विस है। हर रोज लाखों की संख्या में लोग सफर करते हैं। बेस्ट ने लोगों को अधिक सुविधा देने के लिए एसी बस सर्विस शुरु की थी। पर बेस्ट का यह कदम फ्लॉप रहा और उन्हें इसे बंद करना पड़ा। अब यही सवाल एसी लोकल को लेकर खड़ा हो रहा है।


गर्दी पर कंट्रोल  

एसी लोकल विरार से चर्चगेट तक चलाई जाएगी। अभी तक यह तय नहीं हो सका है कि दिन में कितनी गाड़ियां छोड़ी जाएंगी। पर इतना तो तय है कि इनकी संख्या काफी कम ही रहने वाली है। लेकिन जब एसी लोकल है तो नॉन एसी से यात्रा करना कौन पसंद करेगा।

हालांकि एसी का किराया नॉन एसी लोकल से ज्यादा ही होगा। पर यात्रियों को क्या फर्क पड़ता है, जिस तरह से यात्री सेकंड क्लास का टिकट लेकर प्राइम टाइम में फर्स्ट क्लास से यात्रा कर लेते हैं उसी तरह नॉन एसी का टिकट लेकर एसी से सफर कर लेगें।  अब रेलवे के सामने सबसे बड़ा चैलेंज है कि प्राइम टाइम में 12 डिब्बों की लोकल में 5 हजार से अधिक यात्रा करने वाले यात्रियों को कैसे कंट्रोल किया जाएगा? अगर इन अड़चनों को रेलवे ने सुलझा लिया तो एसी लोकल हिट और ऐसा नहीं हुआ तो बेस्ट जैसा इसका भी हाल होगा।


एसी लोकल को बाउंसर का सहारा

खबरें आ रही थी कि एसी लोकल शुरु होने के बाद, यात्रियों की सुरक्षा के लिए बाउंसर तैनात होंगे। जो प्लेटफॉर्म के साथ साथ ट्रेन के अंदर भी मौजूद रहेंगे। इस पर वेस्टर्न रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी

रविन्द्र भाकर का कहना है, फिलहाल एसी लोकल का ट्रायल जारी है, सितंबर के आखिर तक एसी लोकल यात्रियों के लिए दौड़ने लगेगी। फ्लेटफॉर्म पर बाउंसर, टिकट किराया, फ्रेक्वेंसी पर अभी तक विचार नहीं किया गया है। साथ ही उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि यह सूचना गलत है कि पूरा एसी लोकल का गेट बंद होने के बगैर ही गाड़ी चलने लेगेगी।


आप क्या करें?

अगर आप एसी लोकल में यात्रा करने के लिए उत्साहित हैं तो सबसे पहले अपनी पॉकेट मजबूत रखें। इसके अलावा धक्का-मुक्की तो सहनी ही पड़ेगी।    


मुंबई में रहना है तो इसे भी पढ़ लेंः जाने 10 सालों में मुंबई कैसे बन बैठेगी न्यूयॉर्क !

Loading Comments

संबंधित ख़बरें

© 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.