मुंबई में सबसे पहले लागू हो सकती है वन नेशन वन कार्ड नीति

वन नेशन वन कार्ड नीति को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अहम नीतियों में से एक माना जाता है

SHARE

अगर सबकुछ सही रहा तो मुंबई में देश में सबसे पहले  वन नेशन वन कार्ड की नीति को लागू किया जा सकता है।  वन नेशन वन कार्ड नीति को  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अहम नीतियों में से एक माना जाता है और खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  मार्च में अहमदाबाद मेट्रो का उद्घाटन करते हुए इस योजना की बात कही थी। मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी (MMRDA) के साथ रेलवे और बृहन्मुंबई इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई एंड ट्रांसपोर्ट (BEST) जैसे शहर के विभिन्न ट्रांसपोर्ट ऑपरेटर एक साल से ITS को लागू करने पर काम कर रहे हैं। 

MMRDA ने ITS की छतरी प्रणाली के साथ-साथ उन बैंकिंग भागीदारों के लिए निविदाएं मंगाई थीं, जिन्हें यात्रा कार्ड प्रदान करने का अधिकार प्राप्त होगा। मिली जानकारी के मुताबिक मुंबई में MMRDA ITS के लिए नोडल एजेंसी है जो मुंबई की सभी परिवहन सेवाओं को एक साथ वन नेशन वन कार्ड की नीति के तहत ला सकती है।  इसमें रेलवे से लेकर मेट्रो और बेस्ट की सेवाएं भी शामिल होगी।  

वन नेशन वन कार्ड नीति के तहत, संभवतः सभी बैंक हिस्सा ले सकते हैं। बैंकिंग भागीदारों का फैसला पीटीओ द्वारा किया जाएगा। हालांकी इसे अभी भी पूरी तरकह लागू होने में कुछ महिनों का समय लग सकता है लेकिन अगर मुंबई में ये सेवा शुरु होती है देश में पहला शहर होने के साथ साथ यहां के यात्रियों को भी इसका पूरा फायदा मिलेगा। 

यह भी पढ़े- स्पाइस जेट का दूसरा विमान 11 मई को गोरखपुर से मुंबई के लिए भरेगा उड़ान

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें