दूसरी एसी रेक में मेट्रो ट्रेन की होंगी विशेषताएं

दूसरे रेक में अंडरस्लंग में बिजली के उपकरण होंगे और मोटर्स की बिजली क्षमता में 50 फीसदी का इजाफा होगा।

SHARE

मुंबई में आनेवाली  दूसरी एयर कंडीशन रेक मेट्रो ट्रेन की तरह दिखने लगेगी क्योंकि इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) ने इसमें कई महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। इस नई ऐसी लोकल में क्षमता बढ़ाने के साथ साथ  दरवाजा बंद करने की प्रणाली पर भी काम किया गया है, ताकि समय का नुकसान न हो।



2015 में, पहला एसी रेक मुंबई में आया और इसे दिसंबर 2017 में वेस्टर्न लाइन पर शुरू किया गया था। रेक में दरवाजा बंद करने की प्रणाली और एसी सिस्टम से लीक जैसी कई शिकायतें आने लगी थी।दूसरे रेक में अंडरस्लंग में बिजली के उपकरण होंगे और मोटर्स की बिजली क्षमता में 50 फीसदी का इजाफा होगा।


इसके साथ ही इस नए रेक में ट्रेन के दरवाजों ओर भी काम किया गया है , अब ट्रैन के ये दरवाजे बंद होने में पहले से कम समय लेंगे। 



अधिकारियों का कहना है कि इसमें बेहतर गुणवत्ता वाली सीट और सामान रेक और आधुनिक ब्रेकिंग सिस्टम होगा। अगले वर्ष के अंत तक, मुंबई को भी भेल के 10 और रेक मिलेंगे।


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें