राजधानी एक्सप्रेस की बढ़ेगी रफ्तार, पिकअप के लिए गार्ड की दिशा में जुड़ेगा इंजन

इस इंजन के जुड़ने के बाद दिल्ली में पहुंचने के समय में एक घंटे की होगी बचत

SHARE

आनेवाले कुछ दिनों में दिल्ली से मुंबई जानेवाली राजधानी की रफ्तार और भी तेज हो सकती है। रेलवे ने राजधानी की स्पीड को बढ़ाने के लिए एक अहम कदम उठाया है। रेलवे के इस कदम से मुंबई से दिल्ली पहुंचने में राजधानी को आधे से एक घंटे का कम समय लग सकता है। बांद्रा टर्मिनस से दिल्ली तक जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस की इंजन क्षमता बढ़ाने के लिए पश्चिमी रेलवे द्वारा नई रेलगाड़ियों को पिक-अप प्राप्त करने के लिए इंजन को गार्ड की दिशा में जोड़ा जाएगा। यह पुश और पूल मोड एक्सप्रेसवे के पूरे यात्रा समय को बचाने में मदद करेगा।


यह भी पढ़े- गोवा के लिए मुंबई से ग्रीष्मकालीन विशेष ट्रेन

इस तरह का बदलाव देशभर में पहली बार किया जाएगा। भारतीय रेलवे की गौरवशाली राजधानी एक्सप्रेस की यात्रा शताब्दी एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों को छोड़कर तेज है। वर्तमान में, बांद्रा टर्मिनस से लेकर हजरत निजामुद्दीन तक चलनेवाली राजधानी एक्सेप्रेस की रफ्तार 130 किमी प्रति घंटे है। राजधानी को मुंबई से दिल्ली तक का सफर तय करने में 16 घंटे का समय लगता है।

यह भी पढ़े- मेट्रो वन: 4 साल में 40 करोड़ यात्रियों ने की यात्रा

हजरत निजामुद्दीन से बांद्रा टर्मिनस तक की विशेष ट्रेन 130 किमी प्रति घंटे है। यह अनुशंसा की जाती है कि यात्रा 16 घंटे तक कम हो और अवधि कम होनी चाहिए। लेकिन गति और गति की समस्याओं के कारण, अब तक यह संभव नहीं हुआ है। बांद्रा टर्मिनस से हजरत निजामुद्दीन राजधानी ट्रेन में आग और पीछे दोनों ओर इंजन जोड़ा जाएगा। जिससे ट्रेन की रफ्तार बढ़ सके।

यह भी पढ़े- सीएसएमटी -पनवेल एलीवेटेड कॉरिडोर फास्ट ट्रेक पर

राजधानी एक्सप्रेस में 24 कोच हैं और अब तक लगभग 10 हजार हॉर्स पावर से एक ही कार के दो इंजन चलाए जा रहे हैं। हालांकि, एक और इंजन गार्ड क्षेत्रों में जोड़ा जाएगा। उस समय से, पूरे गाड़ी को दोनों तरफ समान रूप से मजबूत किया जा सकता है। यह ट्रेन की गति को बढ़ाने में मदद करेगा।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें