SHARE

मध्य रेलवे की तरह अब पश्चिम रेलवे के 5 स्टेशनों पर मोबाइल टिकट वेडिंग कियोस्क मशीन लगाई जाएंगी। इस मशीन के लगने से यात्रियों को टिकट निकालने के लिए लंबी लाइन लगाने से मुक्ति मिल सकेगी।


इन रेलवे स्टेशनों पर लगेंगी मशीनें

रेलवे यात्रियों की यात्रा सुविधाजनक हो और कम से कम समय में पूरी हो इसके लिए रेलवे हमेशा से ही प्रतिबद्ध रहती है। इसे देखते हुए पश्चिम रेलवे के 5 स्टेशनों पर मोबाइल टिकट वेंडिंग मशीन लगायी जाएंगी। यह मशीनें चर्चगेट, दादर, बांद्रा, अँधेरी और बोरीवली स्टेशनों पर लगायी जाएंगी। इस तरह कोई कुल 20 मशीनें हैं जो इन पांचों स्टेशनों पर लगायी जाएंगी।


टिकट के लिए क्या करना होगा?

टिकट निकालने के लिए यूटीएस मोबाइल ऐप से टिकट बुक करवाना होगा। टिकट बुक होने के बाद मोबाइल में SMS आएगा। इस SMS को कियोस्क मशीन पर स्कैन करना होगा उसके बाद टिकट छप कर मशीन से बहार आ जाएगा। रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी रविंद्र भाकर के अनुसार इस सुविधा से यात्रियों का समय और मेहनत दोनों बचेंगी।


लाइन से अब छुटकारा

इसके पहले यूटीएस मोबाइल ऐप के द्वारा टिकट बुक करवाने के बाद टिकट का प्रिंटआउट लेने के लिए मोबाइल पर आने वाले बुकिंग आईडी और मोबाइल नंबर एटीवीएम या फिर यूटीएस काउंटर पर जाकर फीड करना पड़ता था, उसके लिए एटीवीएम पर लाइन भी लगती थी लेकिन कियोस्क मशीन आ जाने के बाद यह प्रक्रिया काफी सरल हो जाएगी और समय भी काम लगेगा इसीलिए यात्रियों को लाइन से छुटकारा भी मिल सकेगा।



संबंधित विषय
ताजा ख़बरें