Interview: मेरा और मेरी पत्नी का सेंस ऑफ ह्यूमर बिलकुल भी मेल नहीं खाता: अक्षय कुमार

फिल्म 'हाउसफुल 4' की सफलता के बाद मुंबई लाइव ने अक्षय कुमार से खास मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने फिल्म और पर्सनल जिंदगी से जुड़े सवालों का बेबाकी के साथ जवाब दिया।

SHARE

बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार हाल ही में साजिद नाडियाडवाला की मल्टीस्टारर कॉमेडी फिल्म 'हाउसफुल 4' में नजर आए। इस फिल्म को क्रिटिक्स से मिली जुली प्रतिक्रिया मिली। बावजूद इसके फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट रही है। इस फिल्म की सफलता के बाद मुंबई लाइव ने अक्षय कुमार से खास मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने फिल्म और पर्सनल जिंदगी से जुड़े सवालों का बेबाकी के साथ जवाब दिया।  

जब आप आपनी ही किसी फिल्म के सीक्वल का हिस्सा नहीं होते हैं, तो एक एक्टर के तौर पर आप क्या सोचते हैं?

निश्चित तौर पर मैं मिस करता हूं, जैसे मैं ‘वेलकम’, ‘नमस्ते लंदन’ के सीक्वेल का हिस्सा नहीं बन सका तो मैंने मिस किया। उसके अलावा और मैं क्या कर सकता हूं। मैं किसी फिल्ममेकर का जबर्दस्ती हाथ पकड़कर तो नहीं बोल सकता की मुझे ही फिल्म में लो। वैसे देखा जाए तो हरेक फिल्म का एक लक होता है और वह तुम्हें तुम्हारे लक के हिसाब से ही मिलती है। पर सीक्वल नहीं मिलता है, तो मैं दूसरी फिल्मों में काम करता हूं।

आपने लगातार 13 हिट फिल्में दी हैं, आपकी ऐसी क्या चीज है, जो दर्शकों से डायरेक्ट कनेक्ट होती है?

मैं दर्शक, क्रिटिक्स और मीडिया का शुक्रगुजार हूं, जिस तरह से वे मेरी फिल्म को लेते हैं। साउथ ही में अलग अलग जॉनर की फिल्में करने में भरोसा रखता हूं। मैं अपने आप को चैलेंज और समय समय पर चेंज करता रहता हूं। यह भी एक बड़ा कारण हो सकता है।

हाउसफुल 4 को मिली जुली प्रतिक्रिया मिली है आप क्या सोचते हैं

क्रिटिक्स का मैं आभारी हूं। क्रिटिक्स फिल्म के बैरोमीटर्स होते हैं। वे आपको बताते हैं, कि आपकी फिल्म का तापमान क्या है। ये चीज थर्मामीटर की तरह काम करती है। उसे आपको समझना होगा और फॉलो करना होगा। कॉमेडी को अलग अलग हिसाब से देखा जाता है। स्लैप्स्टिक कॉमेडी किसी को पसंद आएगी किसी को नहीं। इसीलिए इस फिल्म को एक जन 1 स्टार दे रहा है, तो वहीं दूसरा इसको 4 स्टार दे रहा है। कॉमेडी का कोई दायरा नहीं हो सकता है, जरूरी नहीं है कि जिस जोक पर मैं हंसू उसी जोक पर आप हंसो। या जिस जोक पर आप हंसो उसमें मुझे भी हंसी आए।

आपका और आपकी पत्नी का ह्यूमयर किस तरह का है

मेरा और मेरी पत्नी का सेंस ऑफ ह्यूमर बिलकुल भी मेल नहीं खाता है। उसका सेंस ऑफ ह्यूमर अलग है मेरा सेंस ऑफ ह्यूमर अलग है। पर इसका ये मतलब नहीं है कि हम एक दूसरे को नहीं चाहते। यह तो चलता रहता है, खासकर कॉमेडी में तो यह आम है।

खबरें हैं कि हाउसफुल 4 के बॉक्स ऑफिस आंकड़ों को बढ़ा चढ़ाकर बताया गया है

यह फिल्म फॉक्स डिजनी के बैनर तले बनी है, यह कोई छोटी मोटी कंपनी तो है नहीं। इनके यहां मिलियन मिलियन डॉलर्स की फिल्में बनती हैं। यह तो उनके लिए कुछ भी नहीं है। आपको क्या लगता है, कि वे 2-5 करोड़ के लिए आंकड़े ऊपर नीचे करेंगे। आप एक बार खुद सोचकर देखों कि क्या वे गलत आंकड़े पेश करेंगे। ये फॉक्स डिजनी है, कोई ऐरा गैरा नत्थू खैरा कंपनी नहीं है।

अजय देवगन, रणवीर सिंह के साथ आपने सूर्यवंशी शूट की है, किस तरह का माहौल था सेट पर?

बहुत मजेदार माहौल था, सभी एक्टर एनर्जी से भरे थे। हम लोगों ने साथ में 10-12 दिन शूट किया है।

हाल ही में आपने एक बुजुर्ग कपल के साथ फोटो शेयर की थी, इस बारे में कुछ और बताना चाहेंगे? 

मुझे मेरी बेटी को गांव दिखाना था। अपने ड्राइवर को ले गया और उसे दिखाया। वहां एक कुटिया थी, जहां बुजुर्ग कपल रहते थे। हम उस कुटिया के भीतर गए और मैंने बेटी को दिखाया कि देखो ये लोग किस तरह से रहते हैं। कैसा कच्चा चूल्हा होता है, उसमें कैसे खाना बनता है आदि। उनकी दिलदारी देखो, उन्होंने हमें जाने नहीं दिया, हमने उनसे सिर्फ पानी मांगा और उन्होंने हमें गुड़-रोटी और घी खिलाया। वे जानते भी नहीं थे कि मैं कोई कलाकार भी हूं, इसके बाद भी उन्होंने हमें इतना प्यार दिया। मैंने बहुत टाइम तक उनसे मराठी मैं बात भी की।


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें