IFFI में पहुंचे नाना पाटेकर और मनोज जोशी, ‘बायोस्कोप विलेज’ से हुए प्रभावित!


  • IFFI में पहुंचे नाना पाटेकर और मनोज जोशी, ‘बायोस्कोप विलेज’ से हुए प्रभावित!
  • IFFI में पहुंचे नाना पाटेकर और मनोज जोशी, ‘बायोस्कोप विलेज’ से हुए प्रभावित!
  • IFFI में पहुंचे नाना पाटेकर और मनोज जोशी, ‘बायोस्कोप विलेज’ से हुए प्रभावित!
SHARE

एंटरटेनमेंट सोसाइटी ऑफ गोवा व्दारा बायोस्कोप विलेज एक नई परिकल्पना लायी गयी है। इस बायोस्कोप विलेज के मोबाइल थिएटर में आकर एक्टर नाना पाटेकर और मनोज जोशी ने सिनेमा लवर्स के लिए IFFI का तिसरा दिन यादगार बनाया।

इस मौके पर नाना पाटेकर ने कहा, बायोस्कोप विलेज यह परिकल्पना मेरे लिए काफी नयी हैं। मेरे बचपन में हमारे गांव में हम बायोस्कोप पर फिल्म देखते थे। वह फिल्म देखना हमारे लिए काफी यादगार लम्हा हुआ करता था। हम गांव में मल्टिप्लेक्सेस नहीं बना सकते। ऐसे में बायोस्कोप परिकल्पना जो सिनेमा देखने के लिए जिनके पास पैसे नहीं हैं, उनके लिए एक अच्छी पहल हैं।

इस मौके पर मनोज जोशी ने कहा, गोवा को सांस्कृतिक विरासत मिली है। और इस राज्य में IFFI का आयोजन होना एक बेहतरीन बात हैं।

भारत का अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव इस साल अपना 48वां साल मना रहा है। जिसमें देश और दुनिया भर से सर्वश्रेष्ठ फिल्मों का चयन किया गया है। और निश्चित ही यह फेस्टिवल इस साल सिनेमा जगत का सबसे बड़ा और भव्य फेस्टिवल है।

IFFI का इस साल का 48वां संस्करण 20 से 28 नवंबर तक गोवा में जारी रहेगा।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें