‘मिर्जापुर’ के बाद ‘कागज’ में जुटे पंकज त्रिपाठी

पंकज बताते हैं, भरत लाल बहुत सरल व्यक्ति हैं, अपनी संस्कृति से बेहद जुड़े हुए। हम दोनों बस एक-दूसरे को देखकर मुस्कुराए और आंखों-आंखों में ही बात हो गई। यह अनुभव बहुत ही अनोखा था

SHARE

पंकज त्रिपाठी की हालिया रिलीज हुई वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ ने पूरे देश में धमाल मचा दिया है। इस फिल्म में उन्होंने गैंगस्टर कालीन भइया का किरदार निभाया है। अब पंकज त्रिपाठी इन दिनों एक्टर-प्रोड्यूसर सतीश कौशिक की फिल्म ‘कागज’ कर रहे हैं। यह फिल्म एक बायोपिक है, जो उत्तर प्रदेश के एक गांव में रहने वाले किसान भरत लाल की कहानी है।

जिसे एक भ्रष्ट अधिकारी की मदद से उसके रिश्तेदारों द्वारा कागजों में मरा हुआ घोषित कर दिया जाता है ताकि वे उसकी जमीन हड़प सकें। उत्तर प्रदेश के छोटे शहर सीतापुर में फिल्मांकन करते समय सतीश ने ऑनस्क्रीन भरत लाल का रोल निभाने वाले पंकज से मिलवाने के लिए असली भरत लाल को बुलाया।

फिल्म में अपना रोल निभाने वाले शख्स की झलक देखने के लिए भरत लाल अपनी पत्नी और बेटे के साथ सेट पर आए। जब दोनों भरत लाल एक-दूसरे से मिले तो यह क्षण अविस्मरणीय था।

पंकज बताते हैं, भरत लाल बहुत सरल व्यक्ति हैं, अपनी संस्कृति से बेहद जुड़े हुए। हम दोनों बस एक-दूसरे को देखकर मुस्कुराए और आंखों-आंखों में ही बात हो गई। यह अनुभव बहुत ही अनोखा था

संबंधित विषय